Zevit in Hindi

Zevit in Hindi

Zevit क्या है? – What is Zevit?

Zevit एक  मल्टीविटामिन की गोली है जिसमे बहुत सारे बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन्स, विटामिन सी और जिंक मिलता है। यह मुँहासे,बालों के झड़ने, विटामिन बी 12 की कमी, खून की कमी, मांसपेशियों में ऐंठन और दस्त के इलाज़ में काम आती है। आइये जानते हैं की ज़ेविट कैसे काम करती है, इसके क्या दुष्प्रभाव हैं, इसके उपयोग में क्या सावधानियां बरतनी चाहिए और कुछ निषेध जब ज़ेविट का बिलकुल इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

Read about Zevit in English

‘Glaxo Smith Kline Pharmaceuticals Limited’ ज़ेविट के निर्माता हैं और यह 30-30 काप्सुलेस के पैकेट में मिलती है।

ज़ेविट की  संरचना और सक्रिय सामग्री – Zevit Composition and Active Ingredients

ज़ेविट कैप्सूल में निम्नलिखित विटामिन्स और मिनरल्स  सक्रिय सामग्री के रूप में उपलब्ध हैं-

  • थाईमिन (विटामिन बी 1) १० मिली ग्राम
  • कोबलामिन (विटामिन बी 12) -१५ माइक्रो ग्राम
  • रिबोफ़्लेबिन (विटामिन बी 2) – १० मिली ग्राम
  • पायरीडांक्सीन (विटामिन बी 6) – ३ मिली ग्राम
  • बायोटिन (विटामिन बी 7) – १०० माइक्रो ग्राम
  • कैल्शियम पेंटोथेनेट- ५० मिली ग्राम
  • फोलिक एसिड (विटामिन बी 9) – १५०० mcg
  • जिंक धातु – १५ मिली ग्राम
  • नियासिनामाइड (विटामिन बी 3) – १०० मिली ग्राम
  • एल- एस्कॉर्बिक एसिड (विटामिन सी)- १५० मिली ग्राम

यह सभी विटामिन्स मिलकर प्रतिरोधक तंत्र को मजबूत करते हैं, मेटाबोलिज्म बेहतर करते हैं, और नर्वस सिस्टम (तंत्रिका तंत्र) के लिए भी जरूरी हैं। यह त्वचा, बाल, लीवर और आँखों की सेहत बनाये रखने के लिए उपयोग किया जा सकता है। यह शरीर में विटामिन्स की मात्रा भी नियंत्रित करता है।

निर्माता  – Glaxo Smith Kline Pharmaceuticals Limited
दवा का पर्चा – पर्चे की जरुरत नहीं है
रूप – कैप्सूल
दवा का प्रकार – मल्टीविटामिन

ज़ेविट कैप्सूल के उपयोग – Zevit Tablet Uses

ज़ेविट एक पोषक के रूप में विभिन्न तरह की विटामिन्स की कमी में या पर्याप्त मात्रा में विटामिन्स न ले पाने की स्थिति में दिया जाता है। ज़ेविट का उपयोग निम्नलिखित बीमारियों के बचाव में, नियंत्रण में और इलाज़ में उपयोगी है-

  • मुँह के छाले, जीभ की सूजन, मुह की सूजन, चिलोसिस (होठों के किनारे काटना और सूज जाना)
  • बाल झाड़ना और टूटना
  • बाल सफ़ेद होना
  • मुहांसे, रूसी, शिशु के सिर की त्वचा पर सफेद या पीली पपड़ी पड़ना
  • जो मरीज पोषक आहार नहीं लेते हैं जैसे- शराबी, डायबिटीज पीड़ित, बूढ़े, मोटापे से ग्रस्त, एनोरेक्सिया से पीड़ित (खाने में रूचि न होना)
  • शरीर में बड़े हुए मेटाबोलिज्म की वजह से ज्यादा जरूरतें होना जैसे- लम्बी बिमारी से ग्रस्त, तेज बुखार, संक्रमण, किसी औपरेशन के बाद, जल जाने पर और हड्डी टूट जाने पर
  • खाने का अवशोषण सही न होने पर
  • कुपोषण या अचानक वजन कम होने की स्थिति में
  • विटामिन्स जैसे विटामिन बी12, बी3, फोलेट, बायोटिन, विटामिन ए और सी की कमी हो जाने पर
  • खून की कमी (एनीमिया) होने पर जैसे-
  1. पर्निसिअस एनीमिया (विटामिन बी 12 की कमी)
  2. पोषण की कमी से एनीमिया
  3. गर्भावस्था या बढती उम्र में एनीमिया
  • गर्भावास्थ्स या स्तनपान के समय सूक्ष्म पोषक तत्वों की कमी
  • मासपेशियों में अकड़न
  • सुन्न पड़ना, अपसंवेदना, नसों का दर्द और त्वचा की सूजन
  • दिमागी समस्याएं जैसे अल्झाइमर डिजीज (Alzheimer disease), हल्का तनाव, संज्ञानात्मक विकार
  • ह्रदय सम्बन्धी रोग, कार्डियोवस्कुलर बीमारियाँ, बंद नाड़ियां, कोलेस्ट्रॉल एवं ट्राइग्लिसराइड बढ़ जाना
  • डायबिटीज, डायबिटिक न्युरोपौथी
  • नाजुक जल्दी तूने वाले नाख़ून

ज़ेविट कैप्सूल कैसे काम करती है? – How does Zevit capsule work?

ज़ेविट निम्नलिखित तरीकों से मरीज की तबियत में सुधार करती है-

  • ज़ेविट मेगालोब्लास्टिक बोनमैरो को नोर्मोब्लास्टिक बोनमैरो में तब्दील करता है
  • यह कैल्शियम और फॉस्फोरस का अवशोषण बढ़ाता है जिससे हड्डियाँ मजबूत होती हैं
  • कार्बोहायड्रेट मेटाबोलिज्म में मदद करके सामान्य शारीरिक विकास बनाये रखता है
  • विटामिन बी 12 की कमी नहीं होने देता, या कमी हो जाये तो ठीक करता है
  • बायोटिन की कमी होने से बचाता है और उसका इलाज़ करता है
  • मासपेशियों में तंत्रिकाओं का तनाव कम करता है
  • कोशिकाओं की शती होने से रोकता है
  • फ्री रेडिकल्स बनाके शरीर की सबसे महत्वपूर्ण रेडौक्स रिएक्शन में सम्मलित होता है
  • प्रोटीन्स एवं अन्य सामग्रियों को खंडित करता है
  • विटामिन बी 2 की कमी नहीं होने देता
  • हीमोग्लोबिन और एंटीबाडीज का निर्माण करवा कर खून में शक्कर की मात्रा सामान्य रखता है
  • इन्सुलिन की कार्यशीलता बढ़ाता है
  • बैक्टीरिया, फंगस एवं अन्य सूक्ष्मजीवों को मारता है
  • फ्री रेडिकल्स से होने वाला नुक्सान रोकता है और घाव भरने में मदद करता है
  • आँखों का रेटिना बनवाता है जो धीमी रौशनी व रंग देखने के लिए आवश्यक है
  • रक्त कोशिकाओं व ट्रांस्फेर्रिन नामक प्रोटीन के निर्माण में भी सहायता करता है

ज़ेविट कैप्सूल के उपयोग की विधि – How to take Zevit capsules?

  • इसका अवशोषण मुँह के रास्ते से लेने पर सर्वाधिक होता है
  • भोजन के बाद लेके इसका अवशोषण और बढाया जा सकता है
  • ज़ेविट को कभी भी खाली पेट न लें (यदि आपके चिकित्सक ने अन्यथा न बोला हो)
  • कभी भी लिखी हुई खुराक से ज्यादा न लें
  • कभी भी चिकित्सक के परामर्श के बिना लम्बे समय तक न लें
  • अगर दवा लेते हुए तबियत और खराब हो जाये या बिलकुल सुधार न हो रहा हो तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें और उचित उपचार करवाएं

ज़ेविट की खुराक – Zevit Dosage

भले ही यह दवा बिना पर्चे के दवा की दूकान से ली जा सकती है, पर खुराक निर्धारित करने के लिए अपने चिकित्सक की सलाह जरूर लें, क्यूंकि खुराक आपकी तबियत को देखते हुए ही तय की जाती है। आम तौर पर दिन में १-२ बार या डॉक्टर के बताये अनुसार ही ली जाती है। आधिकतम लाभ के लिए डॉक्टर के बताये अनुसार ही उपयोग करें।

ज़ेविट के निषेध- कब इसका उपयोग नहीं करना चाहिए – Contraindications of Zevit (When to avoid Zevit)

अगर आपको ज़ेविट से हाईपरसेंसीटीविटी (अतिसंवेदनशीलता) हो तो इसे लेना निषेध माना जायेगा। अगर आपको इसमें से कोई भी बीमारी हो तो भी इसका सेवन न करें-

  • त्वचा की तीव्र सूजन
  • तीव्र एक्जिमा
  • त्वचा में खरोंचे
  • एलर्जिक रिएक्शन
  • सेलेनियम से एलर्जी
  • अगर ज़ेविट की किसी भी सामग्री से एलर्जी है
  • जिन मरीजों को गुर्दे या जिगर की बिमारी हो

ज़ेविट के साथ जुड़ी सावधानियाँ – Precautions while taking Zevit

  • यदि दवा से होने वाला फायदा नुक्सान से ज्यादा हो तो गर्भावस्था में सावधानीपूर्वक लें
  • स्तनपान के दौरान अगर यह दवा लेना हो तो चिकित्सक से जरूर सलाह ले लें
  • गुर्दे या जिगर की बिमारी हो तो पहले डॉक्टर से परामर्श कर लें
  • ज़ेविट में एस्कॉर्बिक एसिड होता है जिसकी वजह से पेशाब में ग्लूकोस की मात्रा अधिक दिख सकती है जो डायबिटीज पीड़ितों में टेस्ट का गलत परिणाम दिखा सकता है। इसीलिए ऐसे टेस्ट का उपयोग करें जिसपे एस्कॉर्बिक एसिड का असर न होता हो
  • ज़ेविट लेने से पहले निश्चित कर लें की आप इसकी किसी भी सामग्री से एलर्जिक नहीं हैं
  • यह आहार में प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले विटामिन बी का विकल्प नहीं है। विटामिन बी से युक्त सम्पूर्ण आहार लें
  • अगर आल्कोहोलिक सिरोसिस है तो शराब का सेवन न करें
  • दवा खरीदने से पहले अक्स्पायरी डेट जांच लें
  • क्षतिग्रस्त डब्बे की दवाई न लें
  • किसी भी दोस्त या सम्बन्धी की सलाह पर दवा न लें। उसी प्रकार किसी को भी सिर्फ इसीलिए दवा न दें की लक्षण आपसे मिलते-जुलते हैं
  • इसके पूर्व ली गयी दवा की जानकारी अपने चिकित्सक को दें
  • यदि जलन झुनझुनी या सुन्न होने जैसे दुष्प्रभाव दिखे तो तुरंत अपने डॉक्टर को सूचित कर दें

अन्य सावधानियां – General warnings about Zevit

पर्निसिअस एनीमिया (Pernicious anemia)

ज़ेविट में पाए जाने वाले फोलिक एसिड से एनीमिया तो दूर हो जाता है परन्तु, न्यूरोलॉजिकल लीशऩस बढ़ जाते हैं। ज़ेविट कैप्सूल के साथ मुख्य बीमारी के इलाज के लिए भी दवा लेना चाहिए क्यूंकि ज़ेविट सिर्फ पोषक पूरक के रूप में काम करता है, बीमारी को जड़ से ख़तम नहीं करता।

जरूरत से ज्यादा खुराक लेने पर (ओवरडोज़)

चूँकि यह एक विटामिन पोषक है इसके कोई ख़ास दुष्प्रभाव नहीं होंगे। ओवरडोज़ से बचने के लिए इस्तेमाल से पहले अपने चिकित्सक की सलाह ले लें। अगर ओवरडोज़ हो जाता है तो तुरंत अपने डॉक्टर को दिखाएँ।

खुराक छूट जाने पर (मिस्सिंग डोस)

याद आते ही बची हुई खुराक ले लें। अगर अगली खुराक लेने का समय हो गया हो तो एक खुराक छोड़ दें, पर कभी भी दोगुनी मात्रा में दवाई न लें।

गर्भावस्था में

चिकित्सक से परामर्श करने के बाद ही गर्भावस्था में ली जा सकती है

स्तनपान

स्तनपान के दौरान उपयोग सुरक्षित है परन्तु पहले डॉक्टर से परामर्श कर लें

ज़ेविट के दुष्प्रभाव – Zevit Side Effects

ज़ेविट के इतने सारे फायदों के साथ कुछ दुष्प्रभाव भी हैं। हांलाकि इसके दुष्प्रभाव बहुत कम हैं परन्तु तीव्र हो सकते हैं। अगर आपको निम्नलिखित में से कोई भी लक्षण दिखाई दे तो डॉक्टर से परामर्श लें और इलाज़ करवाएं।

  • मुँह में खराब स्वाद आना
  • दस्त लगना
  • मुँह सूखना, बहुत ज्यादा प्यास लगना
  • सरदर्द
  • सांस फूलना
  • बार-बार पेशाब आना
  • पेशाब का रंग बदल जाना
  • बालों का रूखापन
  • एलर्जिक रिएक्शन जैसे- खुजलाहट, ददोरे, लाल चकत्ते, चेहरे, जीभ और होंठों पे सूजन
  • सीने में जलन पड़ना
  • मरोड़
  • सीने में दर्द
  • मितली आना
  • मासपेशियों में कमजोरी
  • एक्सैन्थीमा (पूरे शरीर में चकत्ते )

अगर आपको और कोई भी दुष्प्रभाव देखने को मिले तो तुरंत चिकित्सीय सलाह लें

ज़ेविट का दूसरी दवाओं के साथ प्रभाव –  Zevit Drug Interactions

अगर आप ज़ेविट किसी और दवा के साथ लेते हैं तो उसका असर बदल सकता है, फिर भले वो दवा किसी चिकित्सक ने लिखी हो या आपने स्वयं दवा कि दुकान से ले ली हो। ऐसा करने से दवा के दुष्प्रभाव बढ़ सकते हैं या दवा की कार्य प्रणाली भी प्रभवित हो सकती है। आप अपने चिकित्सक को उपयोग में लि जा रही सभी दवाइयों से, विटामिन्स और प्राकृतिक दवा से पहले ही अवगत करा दें तो इन दुष्परिणामों से बचा जा सकता है। निम्न्लिखित दवायें ज़ेविट के साथ मिलने पर दुष्प्रभावित करती हैं –

  • ऐक्टिनोमाइसिन
  • अलेन्ड्रोनेट
  • एलोप्यूरिनॉल
  • अमिओडैरोन
  • अल्कोहल
  • एंटी-डायबिटिक ड्रग्स

ज़ेविट काप्सूल्स का विकल्प – Substitutes for Zevit Capsules

निम्नलिखित दवाइयां रूप, संरचना एवं सामर्थ्य में ज़ेविट जैसी ही हैं। अतः ये ज़ेविट के विकल्प के रूप में इस्तेमाल की जा सकती हैं-

  • बीकोसूल कैप्सूल्स – Pfizer Pharmacia India Pvt. Ltd के द्वारा निर्मित
  • रिकोनिया जी कैप्सूल्स – Sun Pharmaceutical Ind. Ltd के द्वारा निर्मित
  • बेकोज़ीन जी कैप्सूल्स – Reddy’s Laboratories Ltd के द्वारा निर्मित
  • फुल 365 कैप्सूल्स – Zuventus Healthcare Ltd के द्वारा निर्मित
  • थ्यरोवेल कैप्सूल्स – Abbott Laboratories Pharmaceutical Company के द्वारा निर्मित
  • नयूरोकाइन्ड गोल्ड कैप्सूल्स – Mankind Pharmaceuticals Ltd के द्वारा निर्मित
  • ओल्फिट कैप्सूल्स – Glenmark Pharmaceuticals Ltd के द्वारा निर्मित Bottom of Form

Reviews

Zevit in Hindi
0.0 rating based on 12,345 ratings
Overall rating: 0 out of 5 based on 0 reviews.

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *