Soframycin in Hindi

सोफ्रामिसिन (Soframycin)- सब कुछ जो आप इसके बारे में जानना चाहते हैं

सोफ्रामिसिन (Soframycin) एंटीबायोटिक और सोफ्रामिसिन त्वचा क्रीम का उपयोग घावों, फुरंकुलोसिस, कट्स, जलन, अल्सर, लाइस, इंपेटिगो, ओटिटिस एक्स्टर्न, स्कैबीज, सिकोसिस बार्बा इत्यादि के इलाज में किया जाता है। चलो जानते हैं कि सोफ्रामिसिन कैसे काम करता है, इसके साइड इफेक्ट्स, सावधानियां और मतभेद सोफ्रामिसिन का सुझाव नहीं दिया जाता है।

Read about Soframycin in English

संरचना – Composition of Soframycin

सोफ्रामिसिन त्वचा क्रीम एवेन्टिस फार्मा लिमिटेड (Aventis Pharma Ltd) द्वारा निर्मित है।  फरामासिटिन (Framycetin) सलफेट , सोफ्रामिसिन में प्रमुख घटक है। सोफ्रामिसिन त्वचा क्रीम की कीमत बहुत महंगा नहीं है। सानोफी (सोनोफी)इंडिया लिमिटेड द्वारा निर्मित सोफ्रामिसिन त्वचा की मरहम और यहां तक कि आंखों और कान में डालने की बूंदों के रूप में भी उपलब्ध है।

सोफ्रामिसिन के कुछ ब्रांड उत्पादक – Some Brand Manufacturers of Soframycin

सोफ्रामिसिन मरहम बनाने वाली कुछ कंपनियां हैं –

  • एवेन्टिस फार्मा लिमिटेड – Aventis Pharma Ltd
  • सैनोफी इंडिया लिमिटेड – Sanofi India Limited
  • क्रॉसबो एक्ज़िम प्राइवेट लिमिटेड – Crossbo Exim Private Limited

यह दवा सोफ्रामिसिन इंजेक्शन, सोफ्रामिसिन पाउडर, और सोफ्रामिसिन एंटीसेप्टिक क्रीम जैसे अन्य फॉर्मूलेशन के रूप में भी उपलब्ध है।

Parents Health Insurance Plans

यह दवा कैसे काम करती है? – Soframycin – Mechanism of the Medicine

सोफ्रामिसिन एंटीसेप्टिक क्रीम बैक्टीरिया को मारने के साथ-साथ उसके प्रजनन को बंद करने के तंत्र द्वारा काम करता है जो त्वचा में संक्रमण का स्रोत है। सोफ्रामिसिन एंटीबायोटिक और सोफ्रामिसिन त्वचा क्रीम घावों, फुरुनकुलोसिस, कट्स, जलन, अल्सर, जूस, इंपेटिगो, ओटिटिस एक्स्टर्न, स्कैबीज, सिकोसिस बार्बा इत्यादि के इलाज में उपयोग की जाती है।

सोफ्रामिसिन क्रीम – उपयोग और लाभ – Soframycin Cream –  Uses and benefits

सोफ्रामिसिन क्रीम उपयोग करने के लिए बहुत आसान है। डॉक्टर द्वारा निर्देशित रूप में इसे दिन में 1-4 बार लगायें। एक आम चिकित्सक, त्वचा विशेषज्ञ और पशु चिकित्सक अक्सर घावों के लिए, चेहरे पे होने वाले दानों और दाग-धब्बे के लिए, गर्मी के फोड़े और त्वचा के जलने पर सोफ्रामिसिन क्रीम लगाने की सिफारिश करते हैं।

सतह की पूर्व धुलाई और सुखाने के बाद इस दवा को प्रभावित क्षेत्र में लगाया जाना चाहिए। मरहम के सौम्य आवेदन के बाद, आपको अधिकतम सतह अवशोषण और क्रीम की अधिकतम प्रभावशीलता देने के लिए प्रभावित सतह पर धीरे-धीरे मालिश करना होगा।

जब आप मरहम लगते है तो प्रभावित क्षेत्र को खुला छोड़ें, और घाव को ढंकने वाले तंग कपड़े बिलकुल भी न पहनें।

जैसा कि पहले उल्लेख किया गया है, सोफ्रामिसिन आंखों की बूंदों और कान की बूंदों के रूप में भी उपलब्ध है। सोफ्रामिसिन का उपयोग, विशेष रूप से आंख और कान संक्रमण के लिए डॉक्टर की सलाह और पर्चे पर आधारित होना चाहिए।

अमेज़ॅन पर उपलब्ध कुछ स्किनकेयर उत्पादों का अन्वेषण करें।

उपयोग करते समय सावधानी बरतने के लिए कुछ दुष्सापरिणामों की सूची – List of some Side Effects to be taken care of while consumption

सोफ्रामिसिन क्रीम के विशिष्ट साइड इफेक्ट्स हैं:

  • सूखी और बेरंग त्वचा
  • संवेदनशील धब्बेदार त्वचा
  • त्वचा पर सूजन
  • संवेदनशील त्वचा जिसे छूने पे दर्द हो   चुने
  • आंखों का लाल होना
  • खुजली या जलन

यदि उपर्युक्त सूचीबद्ध दुष्प्रभावों में से कोई भी लंबे समय तक रहता है या गंभीरता से बढ़ता है, तो तत्काल चिकित्सा उपचार और पर्यवेक्षण की आवश्यकता होती है।

इसका उपयोग कब नहीं किया जाना चाहिए? Careful with Contraindications

ऐसी स्थितियां जब इस दवा का उपयोग नहीं किया जाना चाहिए-

  • अगर रोगी गर्भवती है या स्तनपान करवाती है
  • अगर व्यक्ति गंभीर एलर्जी से पीड़ित है
  • अगर व्यक्ति किसी भी अन्य दवा का उपयोग कर रहा है। (आयुर्वेदिक / होम्योपैथिक / गैर-पर्चे के मिलने वाली दवाइयां इत्यादि)
  • यदि व्यक्ति पोषक दवाओं, विटामिन, हर्बल फॉर्मूलेशन इत्यादि का उपयोग कर रहा है।
  • अगर व्यक्ति की प्रभावित क्षेत्र पर पूर्व में सर्जरी हुई है

इस दवा को कैसे स्टोर करें? – Appropriate Storage conditions

ठंड और सूखी जगह में रखें और विशेष रूप से 25 सी से नीचे तापमान पर रखें। दवा को ठंडा नहीं किया जाना चाहिए । जब मरहम भंडारण में होता है, तो नमी प्रविष्टि से बचना महत्वपूर्ण है। ऐसा करने के लिए इससे सूखे अखबार में लपेट कर ज़मीन से कम से कम डेढ़ मीटर ऊपर रखें ताकि इसमें नमी न जा सके।

इन चेतावनी संकेतों पर नजर रखें – Keep an eye on these Warning signs

  • यह मुख्य रूप से सलाह दी जाती है कि लक्षण ठीक होने के बावजूद किसी भी दवा को अचानक खराक पूरी होने से पहले बंद नहीं किया जाना चाहिए। किसी भी एलर्जी के बिना उपचार के मध्य में किसी भी एंटीबायोटिक को रोकने पर शरीर एंटीबायोटिक प्रतिरोध विकसित कर सकता है और संक्रमण तेजी से फैल सकता है।
  • अगर किसी व्यक्ति को सांस लेने में कठिनाई, निगलने में कठिनाई, कठोरता या छाती में कठोरता, त्वचा पर सूजन और चकत्ते और असामान्य नाड़ी जैसी गंभीर प्रतिक्रियाएं होती हैं, तो कृपया तुरंत अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

अगर किसी कारण से एक अनुभवी डॉक्टर आपके आस-पास उपलब्ध नहीं है, तो आप यहां हमसे संपर्क कर सकते हैं।

Are you Looking For a Health Insurance? – Read this for More Information

Health Insurance for Family

Soframycin, Soframycin in Hindi, Soframycin Uses, Soframycin Uses in Hindi, Soframycin Side effects, Soframycin Side effects in Hindi, Soframycin precautions, Soframycin precautions in Hindi, Soframycin ingredients, Soframycin ingredients in Hindi, Soframycin Benefits, Soframycin Benefits in Hindi

Reviews

सोफ्रामिसिन (Soframycin)- सब कुछ जो आप इसके बारे में जानना चाहते हैं
5.0 rating based on 12,345 ratings
Overall rating: 5 out of 5 based on 1 reviews.
Name
Email
Review Title
Rating
Review Content

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *