Shankhpushpi in Hindi

Shankhpushpi in Hindi – आइए इसके स्वास्थ्य लाभों का पता लगाएं

Shankhpushpi का उपयोग प्राचीन काल से दिमागी स्मृति को बढ़ाने के लिए मुख्य जड़ी बूटी के रूप में इस्तेमाल किया जाता रहा है| शंखपुष्पी एक बारहमासी जड़ी बूटी है यह प्रकृति के दिए गए उपहारों में से एक है जो कि मनुष्य की मस्तिष्क संबंधी कई तरह की समस्याओं को दूर करने के साथ-साथ याददाश्त बढ़ाने के लिए जानी जाती है|

अवलोकन – About Shankhpushpi

शंखपुष्पी का वानस्पतिक नाम कॉन्वॉल्वुलूस प्लूरिकॉलिस (Convolvulus pluricaulis) है| शंख के समान आकृति वाले सफ़ेद रंग के पुष्प होने से इसे शंखपुष्पी कहा जाता है| इसे क्षीरपुष्प भी कहते हैं क्योंकि यह दूध की तरह सफ़ेद है| साथ ही इसे ‘मांगल्य कुसुमा’ भी कहा जाता है जिसके दर्शन को मंगल माना जाता हो| यह सारे भारत में ही पथरीली भूमि अंचल में जंगली रूप में पायी जाती है|

शंखपुष्पी की तीन जातियाँ बताई गई हैं| श्वेत, रक्त और नील| इनमें से श्वेत पुष्पों वाली शंखपुष्पी ही औषधि मानी गई है। मासिक धर्म मे यह सहायक है| शंखपुष्पी छोटे-छोटे घास के समान होते हैं| इसका मूलस्तम्भ बहुवर्षायु होता है, जिससे 10  से 30  सेण्टीमीटर लम्बी, रोमयुक्त, कुछ-कुछ उठी शाखाएँ चारों ओर फैली रहती हैं| मई से दिसम्बर तक इसमें पुष्प और फल लगते हैं। शेष समय यह सूखी रहती है। गीली अवस्था में पहचानने योग्य नहीं रह पाती| श्वेत शंखपुष्पी के क्षुप दूसरे प्रकारों की अपेक्षा छोटे होते हैं तथा इसके पुष्प शंख की तरह आवर्त्तान्तित होते हैं|

Also read about Chyawanprash in Hindi

आइये जान लें शंखपुष्पी के कुछ गुणों के बारे में –

शंखपुष्पी के फायदे दिमागी याददाश्त बढ़ाने में – Benefits of Shankhpushpi as Memory booster

जैसा कि आप अब तक समझ गए होंगे की याददाश्त बढ़ाने के लिए शंखपुष्पी का उपयोग क्यों किया जाता है शंखपुष्पी सिरप बच्चों के मस्तिष्क के विकास के लिए बहुत ही अच्छा माना जाता है| अगर बच्चों को तीन महीने तक नियमित इसे दिया जाये तो उनकी याददाश्त में सुधार के साथ साथ सीखने समझने की क्षमता में वृद्धि होती है| पढ़ाई याद रखने के लिए भी यह बहुत ही मदतगार होता है|  इस प्रकार शंखपुष्पी का उपयोग बड़ो के याददाश्त बढ़ाने के लिए भी  किया जाता है|

शंखपुष्पी अम्लता दूर करने में –  Benefits of Shankhpushpi for acidity

यह कफ वात और पित्त दोषों को दूर करने के लिए उपयोग में लाई जाती है| शंखपुष्पी पित्त रस के संतुलन को बनाई रखती है जिससे हमें एसिडिटी से आराम मिलती है| यह एक एंटीऑक्सीडेंट और एंटाएसिड की तरह भी कार्य करती है| इसलिए जिन्हे अम्लता की समस्या है उनके लिए यह बहुत ही अच्छी दवा के रूप में काम करती है|

एकाग्रता बढ़ाने में सहायक है शंखपुष्पी – Benefits of Shankhpushpi for Concentration

एकाग्रता बढ़ाने के लिए शंखपुष्पी का उपयोग बहुत ही लाभदायक होता है क्योंकि यह तंत्रिका तंत्र को सही तरीके से कार्य करने में सहायता प्रदान करती है| इससे हमारे स्मृति और एकाग्रता को बढ़ाने में सहायता मिलती है| साथ ही शंखपुष्पी मस्तिष्क में रक्त के प्रभाव को सही तरीके से बनाए रखने में भी मदत करती है| जिन्हे पढ़ाई लिखाई या फिर किसी भी काम में अपने मन को एकाग्र करना होता हैं उनके लिए शंखपुष्पी बहुत ही लाभदायक है|

शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने में मदत करता है शंखपुष्पी – Benefits of Shankhpushpi for Sperm Count

शंखपुष्पी से निकाले गए अर्क मैं शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के गुण पाए जाते हैं जो की बिलकुल प्राकृतिक तरीके से इसे बढ़ाने में मदत करता है| बाजार में ऐसे कई सारे दवाई मौजूद है जिसमे साइड एफक्ट भी पाए जाते हैं|  इसलिए शंखपुष्पी का इस्तेमाल एक प्राकृतिक तरीके से शुक्राणुओं की कमी संबंधी समस्या को दूर करने में किया जाता है|

गर्भपात को रोकने में भी मदत करता है शंखपुष्पी – Benefits of Shankhpushpi for Miscarriage

आयुर्वेद के अनुसार, गर्भाशय की कमजोरी के कारण बार-बार गर्भपात हो सकते हैं। इसलिए गर्भाशय को मजबूत बनाने और गर्भपात को रोकने के लिए, 1.5 ग्राम शंखपुष्पी को 1.5 ग्राम अश्वगंधा पाउडर के साथ लिया जा सकता है| बार-बार होने वाले गर्भपात से पीड़ित महिलाओं को इस उपाय का तीन  महीने का कोर्स पूरा करने के बाद गर्भधारण करने की सलाह दी जाती है| पर अगर आपको गर्वपात की कोई समस्या है तो आपको अपने डॉक्टर से भी बात करना चाहिए और फिर उनसे सलाह लेकर इसे इस्तेमाल करना चाहिए|

थायराइड हार्मोन को नियंत्रण करता है शंखपुष्पी –  Benefits of Shankhpushpi for Thyroid issues

शंखपुष्पी हाइपरथायरोईडिसम का इलाज करती है| ये थायराइड हार्मोन का निर्माण करके शरीर की चयापचय की दर को नियंत्रित करता है| शंखपुष्पी गैस्ट्रिक अल्सर की समस्या को भी कम कर देता है| इसलिए जिन्हे इस तरह की समस्या बहुत ज्यादा है वो शंखपुष्पी जरूर इस्तेमाल करें|

उच्च रक्तचाप को कम करता है शंखपुष्पी – Benefits of Shankhpushpi for High Blood Pressure

आज कई कारण से उच्च रक्तचाप की समस्या लोगों में हैं, इसलिए अगर शंखपुष्पी एक सही हिसाब से लेंगे तो यह आपके रक्तचाप सम्बंधित समस्या को कम करेगी जो आपके हार्ट सम्बन्धी जोखिम के लिए भी बहुत ही फायदेमंद है| जिन्हे बहुत ज्यादा उच्च रक्तचाप की समस्या है उनके लिए यह बहुत ही एक अच्छी दवा है|

दुर्बलता दूर करने में मदतगार है शंखपुष्पी – Benefits of Shankhpushpi for Weakness

यह थकावट शरीर की दुर्बलता और ऊर्जा की कमी को दूर करने के लिए भी जानी जाती है| शंखपुष्पी से बना टॉनिक बहुत ही अच्छी तरह कार्य करता है| शंखपुष्पी से बने टॉनिक का उपयोग अक्सर हाईपोटेंसी सिंड्रोम का इलाज करने के लिए किया जाता है| आजकल के काम के कारण जो लोग बहुत थके और दुर्बल महसूस करते हैं उनके लिए शंखपुष्पी एक बहुत ही अच्छी दवा है|

Reference – Wikipedia

Shankhpushpi, Shankhpushpi uses, Shankhpushpi uses in Hindi, Shankhpushpi benefits, Shankhpushpi Benefits in Hindi, Health benefits of Shankhpushpi, Health benefits of Shankhpushpi in Hindi, Natural Health benefits of Shankhpushpi, Kidney related Health benefits of Shankhpushpi

Reviews

Shankhpushpi in Hindi - आइए इसके स्वास्थ्य लाभों का पता लगाएं
5.0 rating based on 12,345 ratings
Overall rating: 5 out of 5 based on 1 reviews.

★★★★★
Nice information about shankhpushpi
- Dr. Nahid Khan
Name
Email
Review Title
Rating
Review Content

 

 

 

 

 

3 thoughts on “Shankhpushpi in Hindi – आइए इसके स्वास्थ्य लाभों का पता लगाएं

  1. श्री मान डाक्टर साहब जी
    मेरे पेट गुर्दे से निचे ( ब्लैडर) में पत्थरी थी जिसका मैंने URS ओपरेशन करवाया है। मैं citralka liquid syrup ले रहा हूँ डाक्टर के परामर्श से मुझे अभी भी पेट में गैस की बहुत बडी समस्या है।पेट काफी फूला रहता है कुछ खाने को भी मन नहीं करता है।
    कृपया कर के मुझे कोई समाधान बताइए।
    धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *