Parsley in Hindi

Parsley in Hindi

पार्सले या अजमोद के पत्ते क्या है? – What is Parsley?

Parsley जिसे हिन्दी में अजमोद भी कहा जाता है| यह अक्सर मसाले के रूप में इस्तेमाल किया जाता है| यह मध्य पूर्वी, यूरोपीय और अमरीकी खाना पकाने में आम तौर पे इस्तेमाल किया जाता है| इन जगह पर अजमोद के पत्ते भारत में धनिया पत्ते की तरह  इस्तेमाल किया जाता है, पर अजमोद के पत्ते की सुगंध काफी अलग और साथ ही हल्का होता है धनिया के तरह तेज नहीं| यह कई जगह पर जड़ी बूटी की तरह भी इस्तेमाल किया जाता है| यह गाजर के समान लगता है, पर इसका स्वाद काफी अलग है| वेसे जड़ी बूटियों के एमबीलाइफर परिवार में गाजर, अजमोद एक ही परिबार के सदस्य है| पार्सले की पत्ते ज्यादातर गार्निश के लिए इस्तेमाल किया जाता है जो आज भारतीय खाने का भी एक अंग है|

अजमोद के इसके इस्तेमाल – Get to know the Use of Parsley in Hindi

इसे ज्यादतर एक सब्जी की तरह ही खाया जाता है जो बहुत प्राचीन समय से खाने में सामिल किया गया है| खासकर यूरोप में इसे खाना और साथ ही एक मेडिसिन के रूप में इस्तेमाल किया जाता रहा है जो आज भी देखा जाता है| कहते हैं 2000 साल पहले ग्रीक सभ्यता में इसकी इस्तेमाल शुरू हुई थी| इसके पत्ते ज्यादातर खाने में इस्तेमाल किया जाता है पर अगर इसकी औषधीय गुण की बात करे तो यह इसके जड़ और पत्ते दोने में ही मौजूद है| प्राचीन ग्रीस में इसे रक्त को शोधन करने के लिए इस्तेमाल किया जाता था| तो इसी से हम यह समझ सकते हैं की यह पौधा कितने समय से इस्तेमाल होता आ रहा है| 300 से ज्यादा समय से इसे यूरोप के सभय्ता में खास जगह मिली हुई है| कुछ जगह पर इसे जूस की तरह भी पीया जाता है| भारत में अभी काफी मात्रा में यह पत्ते इस्तेमाल किया जा रहा है, इसके पीछे भारत में बदलते हुआ खानपान एक अहम् भूमिका निभा रही है| आजकल के आधुनिक तथा पौष्टिक खाने में यह पत्ता बहुत ही इस्तेमाल हो रहा है जो टेस्ट के साथ साथ सेहत भी बनाय रखने में मदत कर रहा है| आजकल के बच्चे जो अलग से सब्जिया खाना उतना पसंद नहीं करते हैं उनके लिए यह बहुत लाभदायक है|

अजमोद के पोषण संबंधी तत्वों – Nutrition values of Parsley in Hindi

अजमोद में बहुत सारे पोषक तत्वों होता है जो हमारे शरीर के लिए काफी अच्छा और लाभदायक होता है, जैसे इसमें कई विटामिन A,K  और E के साथ साथ विटामिन B6, विटामिन B12, पैंटोथेनिक एसिड, कोलीन, फोलेट्स, कैल्शियम, लोहा, मैग्नीशियम, मैंगनीज, फास्फोरस, पोटेशियम, जस्ता, और तांबा भरपूर मात्रा में हैं| पार्सले के पत्ते में एनर्जी, कार्बोहाइड्रेट्स, फैट और प्रोटीन भी मौजूद है जो शरीर को स्वस्थ रखने में सहायक है| अगर एक कप पार्सले पत्ते की बात करे तो उसमे-

  • 22 कैलोरी
  • 78 ग्राम प्रोटीन
  • 47 ग्राम फैट
  • 8 ग्राम कार्बोहायड्रेट
  • 2 ग्राम फाइबर
  • 51 ग्राम शुगर

अजमोद के स्वास्थ्यकारी लाभ – Health Benefits of Parsley in Hindi

  1. कोलेस्ट्रॉल को कम करता है – Parsley for Diabetes
  2. आर्थिरिटिस में देता है आराम – Parsley for Rheumatoid Arthritis
  3. गॉल्स्टोन से देती है सुरक्षा – Parsley for Gallstone
  4. कैंसर के खतरे को कम करता है – Parsley for Cancer
  5. हड्डी की मजबूती के लिए – Parsley and Bone Health
  6. यूरिन संक्रमण को कम करता है – Parsley for Urinary Problem
  7. प्रतिरक्षा क्षमता को बड़ाता है – Parsley and the Immune System

कोलेस्ट्रॉल को कम करता है – Diabetes and uses of Parsley in Hindi

हममे से बहुत कम लोगो को यह बात पता है की बहुत समय से ही तुर्की में पार्सले को मधुमेह की खास दवा के रूप में इस्तेमाल किया जाता है| बहुत से शोध के मुताबिक अजमोद में कई सारे पोषक तत्वों हैं जो हमारे रक्त में शर्करा की मात्रा को नियंत्रण में रखके कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदत करता है| अगर मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति रोज इसे जूस की तरह लेते रहे तो इससे उनके कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण में रहता है|

आर्थिरिटिस में देता है आराम – Rheumatoid Arthritis and uses of Parsley in Hindi

पार्सले के पत्ते में कई सारे ऐसे विटामिन और उपादान मौजूद है जो आर्थिरिटिस की दर्द को कम करने में मदत करता है| खास कर इसमें मिलनेवाले विटामिन C और बीटा-कैरोटीन औषधि पाए जाते हैं जो आर्थिरिटिस यानि गठिया दर्द को नियंत्रित करने में मदद करता है| अजमोद हमारे शरीर में यूरिक एसिड को भी निकालने में मदत करता है जिससे भी शरीर में कई सारे दर्द बड़ता है| अगर नास्ते में थोड़े से भी यह पत्ते खाया जाए तो यह इसके लिए मददगार है|

गॉल्स्टोन से देती है सुरक्षा – Gallstone and uses of Parsley in Hindi

आज हमारे खान-पान के कारण और साथ ही पर्याप्त मात्रा में पानी ना पीने की कारण गॉल्स्टोन की समस्या एक आम बात हो गई है| अगर आप पार्सले पत्ते अपने डायट में रखते है तो इस समस्या से आसानी से बचा जा सकता है| यह पत्ते आपके गॉल्स्टोन को गलाने में मदत करता है और साथ ही इसे आपके शरीर में घर नहीं करने देता है| पर अगर आप गॉल्स्टोन की समस्या से पीड़ित है और साथ ही दवाई भी ले रहे हैं तो आपको अपने डॉक्टर से बात करके ही इसे लेना अच्छा रहेगा|

कैंसर के खतरे को कम करता है – Cancer and uses of Parsley in Hindi

कुछ शोध के मुताबिक पार्सले में रहनेवाले उपादान कैंसर की कोष को बड़ने से रोकता है| यह खास कर स्किन कैंसर और महिलाओं के ब्रेस्ट कैंसर के लिए काफी अच्छा फल देता है| इस पत्ते की इस्तेमाल करने से प्राथमिक ट्यूमर की ग्रोथ रुक जाती है जो आगे चलकर कैंसर की बीमारी को जन्म नहीं दे पाता| कुछ संक्रामक बीमारीओं के लिए भी यह पत्ते काफी लाभदायक होती है|

हड्डी की मजबूती के लिए – Bone Health and role of Parsley in Hindi

इसमें मौजूद विटामिन K हड्डी के क्षय रोग को कम करता है और साथ ही हड्डी टूटने की समस्या को भी रोध करता है| पार्सले पत्ते में रहनेवाले कैल्शियम हड्डीओं को मजबूत रखने में मदत करता है साथ ही इसमें रहनेवाले कई सारे खनिज भी हड्डीओं को मजबूती देती है| दही के साथ यह पत्ते लेने से इसमें ज्यादा अच्छा और सही पोषण मिलता है हड्डीओं को|

यूरिन संक्रमण को कम करता है – Benefits for Urine Problem

इसमें कई सारे खनिज होने की कारण यह हमारे पेशाब समस्या को सही करने में मदत करता है, खास कर एक उम्र के बाद लड़कों में यह समस्या पाई जाती है की उन्हें कुछ कारण से पेशाब की समस्या होती है, अगर वह रोज सुबह ब्रेकफास्ट में पार्सले पत्ते ले तो यह समस्या काफी कम हो सकता है पर इसके लिए अपने डॉक्टर से जरूर पूंछे क्यों के यूरिन संक्रमण से बड़े रोग भी हो सकता है आगे चलकर|

प्रतिरक्षा क्षमता को बड़ाता है – Strengthens the Immune System

अजमोद में विटामिन, मिनरल और एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाई जाती है जो शरीर की प्रतिरक्षा क्षमता को बड़ाने में मदत करता है| इसमें विटामिन C, A, K शरीर को बहुत से रोग समस्याओं और संक्रमणों से रक्षा करता है| साथ ही यह किसी भी प्रकार के वाइरस को शरीर में पनप ने से रोकता है जो शरीर की स्वास्थता बनाय रखने में मदत करता है|

कुछ डिश अजमोद के साथ – Use of  Parsley in Culinary

  • पार्सले के पत्ते को आप दही के साथ खा सकते हैं या ऑमलेट के साथ भी
  • इसके जूस भी काफी फायदेदायक होता है और साथ में स्वादिस्ट भी
  • सलाद में यह इस्तेमाल करने से भी उसकी स्वाद काफी बड़ जाता है
  • कुछ लोक इसके सूप बना कर भी खाना पसंद करते हैं पर इसे कच्चे खाने से या फिर किसी सूप के उपर धनिया की तरह डालके खाने से ही अच्छा होता है

अजमोद सेवन के कुछ सावधानी – Some Precautions about Parsley Usage

  • गर्भवती महिलाओं को अजमोद लेने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर परामर्श कर लेना चाहिए
  • किसीको अगर पेट की या हजम की समस्या है तो उन्हें यह थोड़ा कम मात्रा में ही लेना चाहिए या तो डॉक्टर से बात करके ही लेना चाहिए
  • कुछ लोगो को पत्तेदार सब्जी लेने से स्किन में रेश की समस्या हो जाती है इसलिए उन्हें भी इसे लेने से पहले थोड़ा समझकर लेना सही रहेगा

भारतीय भाषाओं में पार्सले के नाम – Indian names of Parsley

  • हिंदी – अजमोद
  • मराठी – अजमोदा
  • बांग्ला – पार्सले
  • तेलुगु – पार्सली

Parsley in Hindi, Benefits of Parsley in Hindi, Diabetes, and benefits of Parsley in Hindi, Rheumatoid Arthritis and benefits of  Parsley in Hindi, Health Benefits of Parsley in Hindi, Cancer  and benefits of Parsley in Hindi, Uses of Parsley in Hindi, Immune System benefits of Parsley in Hindi

Leave a Review

How did you find the information presented in this article? Would you like us to add any other information? Help us improve by providing your rating and review comments. Thank you in advance!

Name
Email (Will be kept private)
Rating
Comments
Parsley in Hindi Overall rating: ☆☆☆☆☆ 0 based on 0 reviews
5 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *