HIV and AIDS – संपूर्ण जानकारी और सुरक्षा के उपाय

HIV जिसका फुल फॉर्म है Human Immunodeficiency Virus (ह्यूमन इम्यूनोडेफिशियेंसी वायरस) एक ऐसा वायरस है जो धीरे धीरे हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को नष्ट कर सकता है | जब किसी व्यक्ति की रोगों से लड़ने की शक्ति कम होने लगती है, ऐसी अवस्था में उसे AIDS (Acquired Human Immonodeficiency Syndrome) या (अक्वार्ड ह्युमन इम्यूनोडेफिशियेंसी सिंड्रोम) से पीड़ित माना जाता है.

एचआईवी (HIV) और एड्स (AIDS) को अक्सर सामान्य बातचीत में एक दूसरे के लिए उपयोग किया जाता है, लेकिन वास्तव में, एचआईवी वायरस का नाम है, जबकि एड्स वास्तविक बीमारी है।

एचआईवी (HIV) एक प्रकार का लेंटिवायरस (Lentivirus) है जो रेट्रोवायरस (Retrovirus) का एक प्रकार है। सामान्यतः वायरस के शरीर में आने के बाद कुछ दिनों में ही रोग पैदा हो जाते हैं, परन्तु जल्दी ठीक भी हो जाते हैं, परन्तु Lentivirus बिना किन्ही लक्षण के कई साल तक शरीर में रह सकता है | एक बार लक्षण आने के बाद इस तरह के वायरस (Lentivirus) लम्बी अवधि की बिमारियों का कारण बनते हैं|

यह बहुत संभव है कि एचआईवी से संक्रमित व्यक्ति में दस साल तक कोई लक्षण ना दिखे, हालाँकि वायरस चुपचाप शरीर की कोशिकाओं में फ़ैल रहा होता है|

एचआईवी वायरस दो प्रकार के होते हैं, HIV-1 और HIV-2. इनमें HIV-1 अधिक खतरनाक और संक्रामक है और इसे वैश्विक स्तर पर एचआईवी संक्रमण का मुख्य कारण माना जाता है।

एचआईवी वायरस का ढांचा – Structure of HIV virus

HIV वायरस की बनावट कुछ ऐसी होती है की इसे मानव प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए पहचानना और फिर मरना बड़ा मुश्किल होता है| वायरस की बहरी बनावट में ज्यादातर ऐसे प्रोटीन होते हैं, जो मानव कोशिका में भी पाए जाते हैं. इसलिए प्रतिरक्षा प्रणाली धोखा खा जाती है|

इसकी बहरी परत में कुछ वायरल प्रोटीन होते हैं जो की इसे स्वस्थ मानव कोशिका के साथ जुड़ने और उसे संक्रमित करने में सहायता करते हैं|

HIV and AIDS - Structure of HIV virus

Source: Wikipedia.org

सबसे बड़ी चिंता की बात ये है की HIV उन कोशिका को प्रभावित करता है जो की हमें रोगों से बचाते हैं, जैसे की macrophage (मैक्रोफेज) और CD4 T सेल्स. HIV वायरस के आक्रमण से धीरे धीरे ये कोशिका कम होने लगते हैं और शरीर विभिन्न प्रकार की बिमारियों से ग्रषित हो जाता है|

HIV वायरस इन्ही कोशिकाओं के अन्दर अपनी संख्या बडाता रहता है, और फिर इसके बाद यही नए वायरल कण नयी कोशिकाओं पे आक्रमण करते हैं. इस तरह ये चक्र चलता रहता है.

एचआईवी कैसे फैलता है? – How does HIV spread?

जब किसी व्यक्ति के रक्त में HIV के वायरस होते हैं, और ऐसा व्यक्ति किसी प्रकार की असुरक्षित यौन गतिविधि में शामिल हो, तो HIV के दुसरे स्वस्थ व्यक्ति में फैलने की सम्भावना अधिक हो जाती है|

असुरक्षित यौन गतिविधि वो होती हैं जिसमे प्रभावती व्यक्ति के शरीर के पदार्थ जैसे की पूर्व-स्खलन, वीर्य या योनी पदार्थ स्वस्थ व्यक्ति के रक्त या शरीर के उन भागों को छुते हैं, जहाँ (Mucus Membrane) होती है | उदहारण के लिए सेक्स सम्बन्धी ऑर्गन या मुहं का अंदरी भाग अगर उसमें कुछ छाले यान अन्य कटाव हो|

अगर एक माँ एचआईवी पॉजिटिव है, तो उसके गर्भ में पल रहे शिशु को HIV हो सकता है| या प्रसव के वक़्त बच्चा संक्रमित योनी पदार्थ के संपर्क में आ सकता है|

क्योकि HIV के संक्रमण के बारे में समाज में बहुत ग़लतफ़हमी हैं, हमने कुछ विश्वसनीय स्रोतों द्वारा समर्थित एक व्यापक सूची है तैयार की है |

HIV इस तरह नहीं फैलता

  • वायु या पानी – इसका मतलब यह है कि यदि आप एचआईवी रोगी द्वारा छोड़ी गई हवा को श्वास लेते हैं, तो आपको एचआईवी होने का कोई खतरा नहीं है। इसी प्रकार, यदि आप एचआईवी व्यक्ति के साथ पानी साझा करते हैं, या यदि एचआईवी व्यक्ति के साथ उसी पूल में तैरते हैं, तो आप एचआईवी से संक्रमित नहीं होंगे |
  • लार, पसीना, आंसू या थूक जैसे पदार्थ – इनके संपर्क में आने से एचआईवी संचरण का कोई खतरा नहीं होता है। एक दुर्लभ स्थिति में, जब दोनों साथियों के मसूड़े में खून बह रहा है, या कटे हुए हैं, और गहरे मुहं की चुम्बन में संलग्न हैं, तो HIV का संक्रमण संभव है|
  • जब आप किसी अन्य व्यक्ति के साथ भोजन या पेय साझा करते हैं तो एचआईवी संचरित नहीं होता है। इसी तरह, यदि आप उसी शौचालय का उपयोग करते हैं जो एचआईवी संक्रमित व्यक्ति उपयोग करता है, तो संचरण का कोई जोखिम नहीं होता है।
  • अगर किसी सतह को एक एचआईवी संक्रमित व्यक्ति ने छुआ हो, जैसे की बस या ट्रेन पर सीट या बर्तन, या शौचालय की सीट, तो इस सतह हो छूने से कोई खतरा नहीं है|
  • मच्छर काटने की वजह से – जहां मच्छर एक संक्रमित व्यक्ति को काटता है और फिर एक स्वस्थ व्यक्ति को काटे तो एचआईवी संचरण नहीं होता है| एचआईवी वायरस मानव शरीर के बाहर ना तो लम्बे समय तक रह सकता है, और ना ही अपनी संख्या बडा सकता है.
  • मात्र किसी HIV संक्रमित व्यक्ति को छूने से ट्रांसमिशन का कोई भी जोखिम नहीं होता है|

HIV इस तरह फैलता है

अब, यहां गतिविधियों की एक सूची है जो एचआईवी संचरण का जोखिम पैदा कर सकती है, जो तीन अलग-अलग श्रेणियों में सूचीबद्ध है।

उच्च जोखिम की स्थिति – High-Risk Situations

  • एक एचआईवी संक्रमित साथी के साथ यौन गतिविधियों में संलग्न होना जहां वीर्य, पूर्व-वीर्य, योनि या रेक्टल पदार्थ किसी अन्य व्यक्ति के रक्त या (Mucous Membrane) श्लेष्म झिल्ली के संपर्क में आते हैं। श्लेष्म झिल्ली शरीर के हिस्सों जैसे योनि, लिंग, गुदाशय और यहां तक कि मुंह में मौजूद होती है।

एचआईवी संचरण की संभावनाओं को कम करने या रोकने के लिए, नए साथी के साथ यौन संबंध बनाने  पर कंडोम का उपयोग करना अत्यंत ही आवश्यक है|

यदि कोई भी साथी (STD – Sexually Transmiited Disease) एसटीडी से पीड़ित है, और कंडोम का उपयोग किए बिना सेक्स में सलग्न है, तो एचआईवी संचरण की संभावनाएं और बढ़ जाती हैं| STD से त्वचा टूटी हो सकती है, जिससे संक्रमित पदार्थ रक्त के संपर्क में आने की सम्भावना अधिक हो जाती है|

कई मशहूर ब्रांडों के कंडोम पास की फार्मेसियों में आसानी से उपलब्ध हैं। यदि आपको कंडोम पैकेट के लिए पूछने में शर्म आती है, तो आप एक कागज़ में कंडोम का नाम लिख सकते हैं, और इसे फार्मासिस्ट को चुपचाप सौंप सकते हैं।

एक और तरीका ऑनलाइन फ़ार्मेसियों और अमेज़ॅन जैसी वेबसाइटों के माध्यम से ऑनलाइन उत्पादों को ऑर्डर करना है, या फ्लिपकार्ट, 1 एमजी, नेटमेड इत्यादि।

यदि आप दूसरे व्यक्ति के यौन स्वास्थ्य से अनजान हैं, तो कंडोम का उपयोग करना हमेशा सर्वोत्तम होता है। याद रखें, जीवन कीमती है और सुरक्षा प्रदान करने के लिए एक सरल समाधान पहले से मौजूद है।

  • सुइयों या सिरिंजों को साझा करना जैसे कि किसी संक्रमित व्यक्ति से रक्त निकालने के लिए, और फिर उसी सुई का उपयोग एक स्वस्थ व्यक्ति में दवा को इंजेक्ट करने के। एचआईवी एक संक्रमित सुई में बचे हुए रक्त में काफी समय तक जिन्दा रह सकता है|

कम रिस्क की स्थिति – Lower risk Situations

  • एचआईवी गर्भावस्था या जन्म के दौरान, या बाद में स्तनपान के दौरान भी बच्चे को संचरित हो सकती है। अगर संक्रमण एचआईवी से पीड़ित है और एचआईवी दवाएं नहीं ले रहा है तो संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है।
  • कुछ दुर्लभ परिस्थितियों में, स्वास्थ्य कर्मचारी किसी संक्रमित सुई के संपर्क में आ सकते हैं, या शरीर का कोई कटा हुआ भाग, संक्रमित रक्त के संपर्क में आ सकता है.

बेहद दुर्लभ स्थितियों – Extremely rare scenarios

जब व्यक्ति Oral Sex (ओरल सेक्स) में शामिल होता है तो एचआईवी संचरण की सम्भावना बेहद कम होती है| हालाँकि अगर दोनों ही पार्टनर मसूड़ों में घावों से पीड़ित हैं, और गहरे चुम्बन में सलग्न हैं, तो HIV के संक्रमण की एक सम्भावना बन सकती है| अकेले लार का आदान-प्रदान एचआईवी संचरण का कारण नहीं बनता है।

रक्त दान शिविरों से रक्त प्राप्त करते समय पर्याप्त परीक्षण किया जाता है, लेकिन अगर किसी को एचआईवी से दूषित रक्त इकाई प्राप्त होती है, तो एचआईवी की संभावना उत्पन्न होती है।

यदि HIV संक्रमित व्यक्ति किसी को कट ले और रक्त का रक्त से संपर्क हो जाए, तो स्वस्थ व्यक्ति संक्रमित हो सकता है|

दुर्लभ परिस्थितियों में, यदि संक्रमित और गैर संक्रमित व्यक्तियों के बीच टूटी हुई त्वचा या घायल शरीर के हिस्सों के बीच कोई संपर्क होता है, जैसे की किसी एक्सीडेंट के बाद, तो HIV हो सकता है|

अगर नाई ने एक ऐसे रेजर का प्रयोग किया है जिसमें संक्रमित रक्त लगा हुआ है, और आपकी त्वचा में भी घाव है, तो ऐसा संभव है, परन्तु ये बहुत ही दुर्लभ है, और आज तक सुनने में नहीं आया है| लेकिन फिर भी ये अच्छा है की आप नाई को रेजर को डिटोल से साफ करने के लिए कहें।

एचआईवी परीक्षण कब सुझाया जाता है? – When is HIV test suggested?

वे लोग जो किसी ऐसी गतिविधि में शामिल हुए हों, जिसमें HIV के संक्रमण का खतरा हो, वे लोग चिंता से बचने के लिए HIV टेस्ट करवाना चाहेंगे| कोई व्यक्ति अपनी इच्छा के खिलाफ असुरक्षित यौन संबंध से पीड़ित है, तो ऐसे में भी HIV टेस्ट करवाना आवश्यक हो जाता है| शादी से पहले भी आजकल दोनों पार्टनर्स की रक्त जांच होना उचित माना जाता है |

ज्यादातर मामलों में, ये ऐसे समय होते हैं जहां आपको परीक्षण करने के बारे में गंभीरता से सोचना चाहिए।

  • क्या आप किसी अन्य पुरुष या महिला के साथ असुरक्षित यौन संबंध में व्यस्त हैं, जिनके सेक्स सम्बंधित गतिविधि की आपको जानकारी नहीं है?
  • यदि आपने हाल ही में अन्य लोगों के साथ इंजेक्शन या सुइयों को साझा किया है।
  • क्या आपको किसी अन्य (STD) यौन संक्रमित बीमारी ने प्रभावित किया है?

एचआईवी संक्रमण का पता लगाने के लिए सबसे आम परीक्षण एलिसा परीक्षण या ईआईए (ELISA test) कहा जाता है। इस परीक्षण में, एंटीबॉडी का पता लगाने के लिए एक प्रयास किया जाता है जो आम तौर पर तब होता है जब किसी व्यक्ति को एचआईवी संक्रमण होता है।

आम तौर पर, ELISA परीक्षण एचआईवी संक्रमण का पता लगाने के लिए विश्वसनीय है लेकिन कभी ये टेस्ट सही रिजल्ट नहीं बताता है, जैसे जब HIV वायरस शरीर में अभी अभी ही दाखिल हुआ हो तो, शरीर में HIV antibody पर्याप्त संख्या में पैदा नहीं हुई होंगी | इसे विंडो-पीरियड भी कहा जाता है।

इसलिए, यदि आपको टेस्ट में नकारात्मक नतीजा मिलता है लेकिन आपको संदेह है कि आप संक्रमित हो सकते हैं, तो कुछ हफ्तों के बाद फिर से परीक्षण दोहराएं या निश्चित रूप से तीन महीने बाद फिर से दोहराएं।

ELISA परीक्षण कभी-कभी ऐसा परिणाम भी दे सकता है जिसमें कहा जाए की आपके शरीर में HIV संक्रमण है| परन्तु यह एक गलत परिणाम भी हो सकता है| इसलिए घबराने के बजाय परीक्षण को दोहराना बहुत महत्वपूर्ण है। कुछ दुर्भाग्यपूर्ण मामले रहे हैं जहां इस तरह का परीक्षण आने पर व्यक्ति अवसाद या सदमे में चला गया और खुद को नुकसान पहुंचाया।

यदि ELISA टेस्ट पॉजिटिव आया हो, तो इसके बाद कुछ अन्य टेस्ट भी किया जाते हैं, जैसे की वेस्टर्न ब्लॉट टेस्ट (Western Blot test)| अन्य प्रकार के परीक्षण भी मौजूद हैं जो एचआईवी संक्रमण की उपस्थिति सुनिश्चित करने में सहायक होते हैं, लेकिन आमतौर पर स्क्रीनिंग परीक्षणों के हिस्से के रूप में उन्हें नहीं सुझाया जाता है।

एचआईवी टेस्ट पॉजिटिव आया – अब क्या?

एक व्यक्ति जो एचआईवी पॉजिटिव हो गया है, वह भारी मानसिक तनाव में पड़ सकता है। हालांकि, सबसे महत्वपूर्ण यह है की और परीक्षण किये जायें | इस वक्त व्यक्ति को डॉक्टर और घर वालों द्वारा आराम और मानसिक सहायता की जरुरत है|

एचआईवी रोगी नियमित रूप से एंटी-रेट्रोवायरल थेरेपी या एआरटी (ART) नामक दवाएं ले कर सामान्य और लंबे जीवन जी सकते हैं। समझने की सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि एचआईवी संक्रमण का मतलब यह नहीं है कि अब आपको AIDS (एड्स) है। शोध के अनुसार, एक एचआईवी पॉजिटिव व्यक्ति जिसने एआरटी (ART) थेरेपी शुरू कर दी है और अच्छी जीवनशैली रखी है, वह एक सामान्य व्यक्ति की तरह जीवन की उम्मीद कर सकती है।

एंटी-रेट्रोवायरल थेरेपी में ऐसी दवाएं शामिल हैं जो एचआईवी वायरस को नियंत्रण में रखती हैं और CD 4 – सीडी 4 नामक प्रतिरक्षा कोशिकाओं की स्वस्थ गिनती को बनाए रखने में मदद करती हैं। यदि व्यक्ति के रक्त में प्रत्येक मिलीलीटर पर 200 से ऊपर सीडी 4 (CD4) सेल्स हों, तो AIDS से व्यक्ति बचा रह सकता है|

कुछ मामलों में, एचआईवी वायरस को और भी कम किया जा सकता है, और व्यक्ति सामान्य स्वस्थ स्तर पर आ सकता है ।

एचआईवी कैसे प्रगति करता है और इसके लक्षण क्या हैं? – How does HIV progress and what are its symptoms?

जब कोई व्यक्ति प्रारंभ में एचआईवी से संक्रमित हो जाता है, तो किसी अन्य वायरल संक्रमण की तरह हल्के बुखार, शरीर में दर्द, सिरदर्द आदि जैसे फ्लू जैसे लक्षणों का अनुभव हो सकता है।

इस चरण को तीव्र संक्रमण चरण (acute infection phase) कहा जाता है, और इस समय के दौरान, वायरस मूल रूप से शरीर के भीतर पुन: उत्पन्न होता है और शरीर के प्रमुख क्षेत्रों में आश्रय लेता है जैसे लिम्फ नोड्स, जहां वे जीवित रह सकते हैं और आने वाले कई वर्षों तक बढ़ सकते हैं।

तीव्र संक्रमण किसी भी अन्य वायरल बुखार की तरह है, इसलिए लोगों को यह भी एहसास नहीं हो सकता कि वे एचआईवी से पीड़ित हैं। हालांकि, अगर किसी को संदेह है कि वह शायद संक्रमित हो गया है; एक परीक्षण करने के लिए सलाह दी जाती है, और यह सुनिश्चित करने के लिए कि आप एचआईवी संक्रमण नहीं हुआ है, कुछ हफ्तों के बाद परीक्षण फिर से दोहराया जाता है|

Acute HIV से पीड़ित व्यक्ति के रक्त में एचआईवी वायरस की अधिक मात्रा होती है, और वह व्यक्ति अगर ऊपर लिखी गयी high-risk गतिविधि में शामिल हो, तो दूसरे व्यक्ति को HIV आसानी से पास हो सकता है।

संक्रमण के शुरुआती चरण खत्म हो जाने के बाद, व्यक्ति (Dormant) निष्क्रिय एचआईवी नामक चरण में जा सकता है। इस चरण के दौरान, एचआईवी वायरस अभी भी शरीर में मौजूद है लेकिन बहुत कम स्तर पर रहता है ।

यह मूल रूप से शरीर की कोशिकाओं में जमा हो जाता है और शरीर में एक बहुत व्यापक और मजबूत पकड़ बनाने के लिए काम करता है। कुछ लोगों में, यह चरण वास्तव में किसी भी प्रमुख लक्षण या असुविधा को दिखाए बिना लगभग 9-10 साल तक रह सकता है।

जो लोग निष्क्रिय एचआईवी चरण में हैं, वे अभी भी एचआईवी वायरस को अन्य लोगों में स्थानांतरित कर सकते हैं, लेकिन यदि व्यक्ति (ART) एआरटी दवा ले रहा है, तो यह जोखिम को कम कर सकता है| फिर भी, असुरक्षित यौन संबंध या अन्य जोखिम भरा गतिविधियों में शामिल होने की सलाह नहीं दी जाती है।

अंतिम चरण तब होता है जब एचआईवी वायरस फिर से सक्रिय हो जाता है और शरीर एक ऐसे चरण में होता है जहां एचआईवी ने शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया है। यह वह चरण है जब व्यक्ति एड्स (AIDS) से पीड़ित माना जाता है|

अगर कोई व्यक्ति एड्स चरण में आगे बढ़ता है, तो वह अब कई बीमारियों जैसे ट्यूबरकुलोसिस, निमोनिया से संक्रमित होने के लिए अतिसंवेदनशील है जिसे अवसरवादी बीमारी कहा जाता है। मुख्य समस्या यह है कि अब व्यक्ति की प्रतिरक्षा बहुत कमजोर है, इसलिए अन्य बिमारियों के संक्रमण बहुत मजबूत और इलाज के लिए मुश्किल हो जाते हैं।

इस चरण में लक्षण हैं

  • ठंड और बुखार से पीड़ित
  • अधिक पसीना
  • लिम्फ नोड्स में सूजन
  • वजन घटाने और अधिक शरीर कमजोरी

यदि कोई व्यक्ति एड्स अवस्था तक पहुंच गया है, तो उन्हें अपने शरीर में वायरल लोड की कम गिनती रखने के लिए माध्यमिक संक्रमण से बचाने के लिए उपचार और एआरटी दवाओं के साथ एक इलाज दिया जाना चाहिए।

उपचार और दवाओं के बिना, ऐसा व्यक्ति 3 से अधिक वर्षों तक जीवित नहीं रह सकता है।

एचआईवी का प्रबंधन – ड्रग्स, कॉस्ट, और लाइफस्टाइल – Management of HIV – Drugs, Cost, and Lifestyle

एक व्यक्ति जिसे हाल ही में एचआईवी संक्रमण हुआ हो, उसे एआरटी दवाओं के अलावा परामर्श और मानसिक सहायता की आवश्यकता हो सकती है।

यहां कुछ चीजें हैं जिनके बारे में पता होना चाहिए।

  • एआरटी थेरेपी दवाएं लेना आपके शरीर में वायरल लोड को कम रखने में मदद कर सकता है, इसलिए डॉक्टर के मार्गदर्शन में नियमित रूप से दवाएं लेना महत्वपूर्ण है।
  • ऐसे समय हो सकते हैं जब एचआईवी रोगी दवाओं के कुछ दुष्प्रभावों के कारण या तो एचआईवी से जुड़ी सामाजिक परेशानियों के कारण उदास महसूस कर सकता है। ऐसे समय में, उन लोगों से बात करना महत्वपूर्ण है जिन्हें आप प्यार करते हैं और भरोसा करते हैं, और उतना ही महत्वपूर्ण है कि आप एआरटी उपचार को न रोकें।
  • किसी फोरम या समुदाय में शामिल होना उपयोगी होता है जहां आप अन्य एचआईवी रोगियों से मिल सकते हैं, क्योंकि इससे पारस्परिक प्रोत्साहन और जानकारी साझा करने में मदद मिलती है। आजकल ऐसे कई समूह हैं जैसे Facebook, Patients Like Me जैसे प्लेटफार्मों पर।
  • अगर कोई जानता है कि वह एचआईवी संक्रमित है, तो हमेशा ध्यान रखें कि आप किसी अन्य व्यक्ति को संक्रमण नहीं दे रहे हैं।
  • हमारी सरकार एचआईवी के आस-पास के सामाजिक मिथकों के बारे में जागरूकता पैदा करने की कोशिश कर रही है, लेकिन फिर भी जानकारी के अभाव में, लोग आपको मानसिक अवसाद दे सकते हैं. माफ करना और भूलना सीखें, और नकारात्मक भावनाओं में अपने को डूबने न दें।

एचआईवी के उपचार की कीमत – Cost of Treatment of HIV

यह संभव हो सकता है कि कोई यह सोच रहा है कि नियमित रूप से एचआईवी दवाएं लेने की लागत कितनी है, खासकर यदि कोई व्यक्ति आर्थिक रूप से गरीब है।

यहां अच्छी खबर है। हमारी सरकार विभिन्न विभागों, जिला अस्पतालों और कुछ धर्मार्थ अस्पतालों में स्थित एआरटी केंद्रों से एआरटी दवाएं प्रदान करके इस विभाग में बहुत अच्छा काम कर रही है।

http://naco.gov.in/treatment

यहां केंद्र के लिए लिंक है जहां एआरटी दवाएं उपलब्ध हैं।

http://naco.gov.in/sites/default/files/List%20of%20ARTC.pdf

सबसे अच्छा, ये उपचार पूरी तरह मुफ़्त हैं और सरकार द्वारा प्रायोजित हैं!

यदि आप इनमें से किसी भी केंद्र से संपर्क करते हैं और इलाज में कोई कठिनाई का सामना करते हैं, तो कृपया [email protected] पर एक ईमेल करें| हम आपकी सहायता के लिए सही प्राधिकारी तक पहुंचने के लिए सर्वोत्तम प्रयास करेंगे।

निष्कर्ष शब्द – Concluding Words

हमें आशा है कि आपको यह जानकारी उपयोगी लगी।

यदि आप एक स्वस्थ व्यक्ति हैं, तो हो सकता है कि आपने एचआईवी फेलने के तरीकों के बारे में सीखा हो, और अब आप इस ज्ञान का उपयोग अपने आप को बचाने के लिए करेंगे। आप यह भी जानते हैं कि एचआईवी कैसे नहीं फैलता है, इसलिए यदि आप किसी HIV संक्रमित व्यक्ति से मिलते हैं, तो आप उन्हें अलग करके अनावश्यक मानसिक चोट नहीं देंगे।

यदि आप ऐसे व्यक्ति हैं जो एचआईवी संक्रमण से ग्रषित हो चुके हैं, तो हम उम्मीद करते हैं कि आप घबराएंगे नहीं, बल्कि सकारात्मकता के साथ एआरटी थेरेपी उपचार शुरू करेंगे। आप अपने संपर्क में आने वाले अन्य लोगों को भी सुरक्षित रखेंगे| किसी प्रकार के मानसिक अवसाद में आप अपने प्रिय जन से अपना दर्द साझा करेंगे, और दवाई चालू रखेंगे.

यदि आप किसी ऐसे व्यक्ति हैं जिनके परिवार में एचआईवी संक्रमण से पीड़ित व्यक्ति हो, तो आप इस जानकारी के माध्यम से यह सुनिश्चित करेंगे की HIV पीड़ित व्यक्ति मानसिक परेशानी में आ के HIV की दवाई लेना बंद नहीं कर रहा है|

United States Center for Disease Control (CDC) द्वारा विकसित किया गया एक बहुत अच्छा मोबाइल एप्लिकेशन है जो एचआईवी रोगी को नियमित रूप से अपनी दवाओं का ट्रैक रखने में सहायता देता है, साथ ही सीडी 4 कोशिकाओं की गिनती को भी रिकॉर्ड करने की सुविधा देता है|

इस एंड्रॉइड (Android App) एप्लिकेशन का लिंक यहां दिया गया है।
https://play.google.com/store/apps/details?id=gov.cdc.everydose&hl=en

ऐप्पल आईओएस (Apple iOS) में भी वही एप्लीकेशन मौजूद है
https://itunes.apple.com/us/app/every-dose-every-day/id916201167?mt=8

हमें बताएं कि हम इस लेख को आपके लिए अधिक उपयोगी कैसे बना सकते हैं। क्या हमने कुछ चुक गये है जो आप जानना चाहते थे?

References

https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4004637/
https://www.cdc.gov/hiv

 

Leave a Review

How did you find the information presented in this article? Would you like us to add any other information? Help us improve by providing your rating and review comments. Thank you in advance!

Name
Email (Will be kept private)
Rating
Comments
HIV and AIDS – संपूर्ण जानकारी और सुरक्षा के उपाय Overall rating: ☆☆☆☆☆ 0 based on 0 reviews
5 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *