Fordyce Spots – सब कुछ जो आप इसके बारे में जानना चाहते हैं

फोर्डाइस स्पॉट्स अधिकांश व्यक्तियों में मौजूद स्नेहक ग्रंथियां के कारण दिखाई देती हैं| यह जननांगों और या चेहरे पर और मुंह में दिखाई देते हैं। इसे फोर्डाइस ग्रैन्यूल और स्नेहक प्रबलता भी कहा जाता है| वे महिला और पुरुष दोनों में आम हैं पर महिलाओ के तुलना में पुरुषों में ज्यादा पाई जाती है| यह छोटे, दर्द रहित, पीले, लाल या सफेद धब्बे के रूप में दिखाई देते हैं यह व्यास में 1 से 3 मिमी होते हैं| यह किसी भी बीमारी से जुड़े नहीं हैं, न ही वे संक्रामक हैं बल्कि वे शरीर पर प्राकृतिक घटना के रूप में दिखाई देते हैं|  इसलिए जब तक व्यक्ति को कॉस्मेटिक चिंता नहीं होती है, तब तक कोई इलाज आवश्यक नहीं होता है| इस स्थिति के व्यक्ति कभी-कभी त्वचा विशेषज्ञ से परामर्श करते हैं क्योंकि वे चिंतित हो जाते हैं  कि वे यौन संक्रमित बीमारी या कैंसर सम्बंधित समस्या से पीड़ित है या नहीं|

फोर्डाइस स्पॉट के ऊपर कुछ आम बातें – Some common things above the Fordyce spots

फोर्डाइस स्पॉट्स के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बिंदु यहां दिए जा रहे हैं, निचे इस विषय में बिस्तार से और भी सहायक जानकारी दिया गया है|

Fordyce Spots

  • फोर्डाइस स्पॉट यौन संक्रमित संक्रमण नहीं हैं ।
  • यह संक्रामक नहीं हैं, और छूने से किसी भी प्रकार की कोई खतरा नहीं है|
  • ये त्वचा असामान्यताएं स्वास्थ्य संबंधी चिंता नहीं हैं लेकिन अगर यह बदलना शुरू करते हैं या जलन महसूस हो तो डॉक्टर द्वारा जांच की जानी चाहिए।

 फोर्डाइस स्पॉट के कारण – Cause of Fordyce spots

  • फोर्डाइस स्पॉट एक प्रकार का तेल ग्रंथि है जो शरीर पर असामान्य स्थान में दिखाई देता है। इन्हें एक्टोपिक स्नेहक ग्रंथियों के रूप में जाना जाता है।
  • यह ज्ञात नहीं है कि फोर्डाइस स्पॉट का कारण क्या है, लेकिन कुछ अध्ययनों ने अपने विकास को हार्मोनल परिवर्तनों से जोड़ा है, और अन्य सुझाव देते हैं कि गर्भ में भ्रूण बढ़ने के दौरान ही यह फॉर्म बनना शुरू हो जाता है|
  • हालांकि ग्रंथियां हर समय दिकहि नहीं देती है, लेकिन वे किसी भी बीमारी से जुड़े नहीं हैं।
  • त्वचाविज्ञानी सलाह देते हैं कि जिन लोगों में यह समस्या हैं, वे फोर्डाइस स्पॉट के प्रभाव से खुश नहीं हो सकते हैं, लेकिन वे शारीरिक स्वास्थ्य के लिए कोई जोखिम नहीं है|
  • विशेषज्ञों का कहना है कि फोर्डाइस स्पॉट प्राकृतिक हैं और अधिकांश लोगों में कुछ डिग्री ही होतीहै जो की हानिकारक बिलकुल नहीं है|

फोर्डाइस स्पॉट के लक्षण – Sign of Fordyce spots

फोर्डाइस स्पॉट छोटे, पीले बंप या स्पॉट होते हैं जो व्यास में 1 और 3 मिलीमीटर (मिमी) के बीच होते हैं।

वे आम तौर पर पीले, सफेद, पीले लाल, या त्वचा के रंग से घिरे होते हैं, और वे शरीर के निम्नलिखित क्षेत्रों में दिखाई देते हैं:

  • लिंग और स्क्रोटम के शाफ्ट में
  • चेहरे पर बिंदु जिस पर होंठ और त्वचा मिलती है, जिसे वर्मीलियन सीमा के रूप में जाना जाता है
  • लेबिया

लिंग, स्क्रोटम और लेबिया के शाफ्ट पर, वे चमकदार लाल या बैंगनी पिपुल्स के रूप में दिखी जा सकती है, या यह पीले रंग के हो सकते हैं| यह कभी कभी अकेले दिखाई देती हैं तो कभी कभी 50 से 100 धब्बे के समूहों में दिखाई दे सकते हैं| जब त्वचा फैली हुई है तो वे अधिक स्पष्ट हो जाते हैं|

वे दर्द या खुजली का कारण नहीं हैं। कुछ मामलों में संभोग के दौरान या बाद में खून बह सकते हैं।

वे संक्रामक नहीं हैं और एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में स्थानांतरित नहीं होते हैं। फोर्डाइस स्पॉट वाले कुछ पुरुष सोच सकते हैं कि उनके यौन संक्रमित संक्रमण (एसटीआई) या कैंसर का एक प्रकार है , लेकिन इन्हें अक्सर हानिरहित ही होते हैं|

होने की ज्यादा सम्भावनाय – Possibilities of Fordyce spots

  • जबकि धब्बे के कारण काफी हद तक अज्ञात हैं, उन्हें विभिन्न प्रकार के त्वचा और अन्य बीमारियों से जोड़ा जा सकता है।
  • फोर्डाइस स्पॉट महिलाओं की तुलना में पुरुषों में दोगुना आम है, और तेल की त्वचा पर भी होने की संभावना अधिक होती है।
  • मुंह और आंखों के आस-पास के स्पॉट्स को हाइपरलिपिडेमिया से भी जोड़ा गया है , और शोध ने फोर्डाइस स्पॉट और दिल और धमनियों की बीमारियों के लिए अन्य जोखिम कारकों के बीच संबंध दिखाए हैं पर इसके बारे में डॉक्टर से बात करने जानकारी है|

 फोर्डाइस स्पॉट के इलाज – Treatment of Fordyce spots

अधिकांश डॉक्टर उपचार के खिलाफ सलाह देते हैं। त्वचाविज्ञानी और अन्य डॉक्टरों ने जोर दिया कि शरीर पर फोर्डाइस स्पॉट होने के लिए यह सामान्य है और मानव स्वास्थ्य के लिए खतरनाक नहीं है।

हालांकि, कई कॉस्मेटिक उपचार उपलब्ध हैं। ऐसा लगता है कि स्पॉट को हटाने के लिए एक व्यक्ति को स्व-निधि उपचार करना होगा, क्योंकि बीमाकर्ता आम तौर पर कॉस्मेटिक उपचार के लिए भुगतान नहीं करेंगे।

एलेक्ट्रोडेसिकेशन – Electrodesiccation

इलेक्ट्रोडोडिकेशन या कार्बन डाइऑक्साइड (CO2) लेजर उपचार का उपयोग स्पॉट को कम दिखने में कुछ हद तक सफलता के साथ किया गया है। यह उपचार इस त्वचा की स्थिति की पूरी तरह से कॉस्मेटिक चिंता सही करता है|

पल्स्ड डाई लेजर – Pulsed dye lasers

ये कुछ मामलों में भी प्रभावी रहे हैं। यह एक लेजर उपचार होता है जो आमतौर पर एक विकार के लिए उपयोग किया जाता है जिसे सेबेसियस ग्रंथि हाइपरप्लासिया कहा जाता है, यह तब किया जाता है जिसमें फोर्डाइस स्पॉट के कारण बनने वाली ग्रंथियां बढ़ जाती हैं।

डाई लेजर अन्य तरीकों की तुलना में कम निशान छोड़ने जाते हैं। हालांकि, वे महंगा हो सकता है।

अधिकांश मामलों में, ऊपर वर्णित उपचार विधियां अधिकांश व्यक्तियों के लिए पर्याप्त प्रभावी नहीं हैं और हर समय इससे सारे  स्पॉट मिट जाये यह न भी हो सकता हैं और एक बार से अधिक भी करना हो सकता हैं|

ध्यान दे – Keep it mind

यदि आप जननांगों या चेहरे में कोई भी बदलाव देखते हैं, तो उन्हें डॉक्टर द्वारा चेक आउट किया जाना चाहिए। हालांकि, फोर्डाइस स्पॉट एक हानिकारक स्वास्थ्य चिंता नहीं है प्राकृतिक है|

अगर किसी कारणवश आपके आस – पास कोई अच्छा एवं अनुभवी डॉक्टर उपलब्ध नहीं है तो आप हमसे संपर्क कर सकते हैं।

Sign of Fordyce spots, Fordyce Spots, Fordyce Spots symptoms, Fordyce Spots details in HIndi

Leave a Review

How did you find the information presented in this article? Would you like us to add any other information? Help us improve by providing your rating and review comments. Thank you in advance!

Name
Email (Will be kept private)
Rating
Comments
Fordyce Spots - सब कुछ जो आप इसके बारे में जानना चाहते हैं Overall rating: ★★★★☆ 4 based on 1 reviews
5 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *