Deriphyllin in Hindi

Deriphyllin Tablet in Hindi

डरिपिलीन (Deriphyllin) एक दवा है जो खाँसी, घरघराहट और सांस की तकलीफ जैसे लक्षणों से राहत के लिए दी जाती है, क्योंकि यह फेफड़ों में हवा जाने की जगह को खोलता है ताकि हवा आसानी से फेफड़ों में जा सकें। जानें डरिपिलीन काम कैसे करता है इसके गलत प्रभाव, सावधानी, और मतभेद जहां डरिपिलीन का सुझाव नहीं दिया जाता।

Read about Deriphyllin in English

यह कैसे काम करता है? – How does Deriphyllin works?

यह सीओपीडी के रोगियों में हवा जाने की जगह में तीन अलग-अलग तरीकों से काम करता है:

  • मांसपेशीयो को रिलैक्स करता है, जिसे हम ब्रोन्कोडिलेशन (Bronchodilation) कहते हैं|
  • जीन कारणों से यह बढ़ता है उन्हें ये कम करता है|
  • इस दवा की कार्रवाई की एक ओर दुर्लभ विधि बढ़ रही है|

कभी-कभी इस दवा को किसी अन्य दवाओं के साथ लेने की आवश्यकता हो सकती है| इस दवा को और भी कई स्वास्थ्य समस्या के लिए उपयोग में लाया जाता है जो की डॉक्टरों द्वारा ही दी जाती है| यह शिशुओं की एपनिया(apnea) के इलाज के लिए भी इस्तेमाल में लिया जाता है।

डरिपिलीन बनता कैसे है – Deriphyllin Composition

डरिपिलीन एक ब्रांड का नाम है जो Etophylline और थेफिलाइन (Theophylline) के कॉम्बिनेशन को कहते है, ये दो जेनेरिक (Generic) दवाओं हैं । Deriphyllin को Xanthine व्युत्पन्न भी कहते है | इसको एटोपिललाइन (Etophylline) 77 एमजी + थियोफिलीन (Theophylline) 23 एमजी को मिलाकर बनाया जाता है।

डरिपिलीन की आवश्यक सामग्री हैं:

  • एटोथिललाइन 77 एमजी
  • थियोफिललाइन 23 मिलीग्राम

डरिपिलीन डोज़ – Deriphyllin Dosage

डॉक्टर द्वारा सलाह के अनुसार ही  इस दवा की खुराक और अवधि को निश्चित मात्रा में लिया जाना चाहिए। इसे  निगलना चाहिए| चबाने या इसे तोड़ने से बचें। Deriphyllin एक खाली पेट पर लिया जाना चाहिए। अगर आप इस दवा को लेना भूल जाते है तो उसे छोड़कर सामान्य कार्यक्रम पर लौट जाना चाहिए। एक बार में दवा की दो खुराक न लेना अच्छा है।

Deriphyllin के उपयोग और लाभ – Deriphyllin Uses and benefits

70 से अधिक वर्षों से डेरिपिलीन को सीओपीडी के उपचार के लिए एक मौखिक ब्रोन्कोडायलेटर (oral bronchodilator) के रूप में प्रयोग किया जाता है। यह अस्थमा और पुरानी अवरोधक फुफ्फुसीय रोग (सीओपीडी) के उपचार के लिए एक सस्ता और प्रभावी उपचार है। जब इस दवाई को कम मात्रा में दिया जाता है तो यह गलत प्रभाव को ओर भड़कती है|

इसके अलावा, डेरिपिलीन का उपयोग रोगों, शर्तों, और लक्षणों के उपचार, नियंत्रण, रोकथाम और सुधार के लिए किया जाता है जैसे:

  • सीने में जकड़न
  • श्वास की कमी
  • नवजात शिशुओं या नवजात श्वसन संक्रमण में श्वास का रुख
  • दमा
  • ब्रोंकोस्पज़म (Bronchospasm) के कारण फेफड़े के रोग

डरिपिलीन के कुछ तथ्य – Contradictions of Deriphyllin

कुछ ऐसी स्थिति जब डरिपिलीन नहीं दी जाती है:

एलर्जी

इस दवा से एलर्जी या वो दवाइयां जो ज़ैंथीन (Xanthine) व्युत्पन्न समूह में आती है।

आनुवांशिक असामान्यता

पोर्फियारिया (Porphyria) एक दुर्लभ आनुवंशिक विकार है खून का ऐसे रोगियों के लिए डेरिपिलीन नहीं दी जाती है।

प्रभाव

यह दवा कुछ अन्य रोगों जैसे कि पेप्टिक अल्सर (peptic ulcer), किडनी रोग, जब्ती, और हार्ट पे असर कर सकती है। यह शराब, तंबाकू, और मारिजुआना (Marijuana) के साथ भी असर करती है।

Deriphyllin के गलत प्रभाव – Side effects of Deriphyllin

Deriphyllin के सेवन से कुछ साइड इफेक्ट्स पैदा कर सकता है। उनमें से कुछ हैं:

जठरांत्र (Gastrointestinal) संबंधी समस्याएं और अन्य पेट में गड़बड़ी

डरिपिलीन के सेवन से पेट में परेशानी, मतली, और उल्टी हो सकती है। यह ज्यादातर पहली बार के उपयोग में हल्के और अस्थायी होता है। साइड इफेक्ट्स समय से ठीक हो जाता है क्योंकि शरीर इस दवा को इस्तेमाल मेंलेता है। साथ में कुछ अन्य जठरांत्र संबंधी समस्याओं जैसे दस्त, पेट की समस्याएं और ईर्ष्या हो सकती है।

सिरदर्द, बेचैनी और अनिद्रा

डरिपाहिलीन मस्तिष्क को उसी तरह से उत्तेजित कर सकता है जैसे शराब करता है और बेचैनी और अनिद्रा का कारण बनता है। कभी-कभी इस दवा का सेवन करने से चिंता, आंदोलन, सिरदर्द और चिड़चिड़ापन हो सकता है।

मूत्राधिक्य

डरिपिलीन के सेवन से जादा पेशाब हो सकता है। लेकिन जब शरीर आदत हो जाता है, इस तरह के साइड इफेक्ट्स कम हो जाते है।

दिल की धड़कन बढ़ी

डरिपिलीन के सामान्य साइड इफेक्ट्स में से एक है दिल के धडकने की दर बढ़ना है, जो छाती में धड़कन के रूप में महसूस होती है। इससे रक्तचाप और सीने में दर्द होता है।

झटके और बरामदगी

डेरिपिलीन कभी-कभी हल्की झटके और बरामदगी जैसी समस्या करता  है| इसे हाथ, पैर और अन्य शरीर के अन्य मंसपेसीयों के अपने आप हिलने के रूप में देखा जा सकता है।

इन चेतावनियों पर नजर रखें – Keep an eye on these warnings

  • गर्भवती महिलाओं के उपयोग के लिए इस दवा की परामर्श नहीं दी जाती है और स्तनपान करा रही महिलाओं को तब तक नहीं दी जाती जब तक है और इसके फायदे ज्यादा और जोखिम कम हो।
  • महिलाओं को गर्भधारण करने पर भी यह दवा नहीं दी जाती है, क्योंकि इससे गलत प्रभाव पड़ सकता है।

अगर किसी कारणवश आपके आस – पास कोई अच्छा एवं अनुभवी डॉक्टर उपलब्ध नहीं है तो आप हमसे संपर्क कर सकते हैं।

    Deriphyllin tablet, Deriphyllin tablet Uses, Deriphyllin tablet Side effects, Deriphyllin tablet Precautions, Deriphyllin tablet usage details in Hindi, About Deriphyllin tablet in Hindi

    Reviews

    Deriphyllin Tablet in Hindi
    5.0 rating based on 12,345 ratings
    Overall rating: 5 out of 5 based on 1 reviews.

    ★★★★★
    Running karte waqt 500meter nhi hoti muze koi tab. Btao
    - Kaptansingh
    Name
    Email
    Review Title
    Rating
    Review Content

     

     

     

     

     

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *