Cumin in Hindi

भारत में खाना मसालों की बिना नहीं बनाई जाती और उसमे जीरा यानि जीरा (Cumin in Hindi) एक खास और जरुरी मसाला है| जीरा पाचन में बहुत सहायता करती है इसलिए भारत जैसे गरम देश में बहुत प्राचीन समय से ही जीरा इस्तेमाल किया जाता है|

कुछ बाते जीरा के बारे में

जीरे में बहुत सी गुण होती है जो उसके मसाले की साथ साथ उससे मिलनेवाले एसेंशियल ऑयल से भी मिला करती है| कुछ लोग सरबत में भी जीरा पाउडर डालके खाना पसंद करते हैं, गर्मिओ के दिनों में यह अच्छा और लाभदायक होता है| आदि भाषा संस्कृत में इसे जीरक कहा जाता है, जिसका अर्थ है, अन्न के जीर्ण होने में अर्थ्यात पचने में सहायता करने वाला|

जीरा जिसके बैज्ञानिक नाम क्युमिनम सायमिनम है, एक जैविक पौधे के बीज है| यह पौधा पार्स्ले परिवार का सदस्य है| यह पौधा 30–50 से.मी. की ऊंचाई तक बढ़ता है और इसके फ़लों को हाथ से ही तोड़ा जाता है|

जीरे में रहनेवाले कुछ पोषक तत्वों – Nutrition values in Cumin in Hindi

जीरा एनर्जी का एक अच्छा स्रोत माना जाता है, इसमें विटामिन A, C, E और B6 मौजूद है| साथ ही इसमें लोहा, मैंगनीज, तांबा, कैल्शियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस और पोटेशियम जैसे खनिज भी भरपूर मात्रा में मौजूद है| यह प्रोटीन और एमिनो एसिड, कार्बोहाइड्रेट फाइबर और जरुरी फैटी एसिड की एक उचित मात्रा से समृद्ध है| अगर आप रोज अपने खाने में कम से कम एक चम्मच जीरा पाउडर या जीरा रखते हैं तो यह आपके शारीरिक पोषण के लिए काफी अच्छा और फ़ायदेदायक है|

जीरे के कुछ स्वास्थ सम्बंधित लाभ – Health Benefits of Cumin in Hindi

  1. रोज के हजमे में जीरा करता है मदत
  2. कॉन्स्टिपेशन और पाइल्स समस्या को करता है कम
  3. मधुमेह के लिए हैं असरदार
  4. मौसमी ठण्ड से बचाता है जीरा
  5. अनिद्रा रोग के लिए हैं काफी असरदार
  6. एनीमिया के समस्या को दूर करता है
  7. महिलाओं में लैक्टेशन को बढ़ाने में मदत करता है
  8. प्रतिरक्षा क्षमता को बनाए रखने में मदत करता है
  9. त्वचा के लिए हैं एक अच्छी दवा
  10. कैंसर के लिए भी अच्छा होता है जीरा

रोज के हजमे में जीरा करता है मदत – Cumin helps in digestion

जीरा हमज के लिए एक अच्छा स्रोत होता है| अगर आप कम तेल मसालेवाला खाना ज्यादा पसंद करते हैं तो जीरा आपके लिए एक सही मसाला है| जीरा अपने सुगंध, स्वाद और उसमे रहनेवाले तेल के कारण खाने को अच्छा और स्वादिस्ट बना देता है| इसलिए कम तेल मसाले खानेवाले लोग भी अपने खाने में जीरा सही मात्रा में इस्तेमाल कर सकते हैं| मांसाहारी लोग अगर ज्यादा मसाले की साथ मांस मछली पकाते हैं तो उसे कई समय हजम करने में समय लगता है, पर अगर सिर्फ जीरे के साथ अच्छे तरह उन्हें बनाया जाये तो वह जल्दी हजम होने की साथ साथ शरीर को भी उपकार देता है| जीरे में रहनेवाले सोडियम, एसेंशियल ऑयल, मैग्नीशियम खाना पचाने में और हजम क्षमता को बढ़ाने में मदत करता है|

कॉन्स्टिपेशन और पाइल्स समस्या को करता है काम – Cumin Helps in constipation

जिन लोगो को कॉन्स्टिपेशन की समस्या है और किसी भी प्रकार के खाना हजम ना होने की समस्या है उनके लिए भी जीरा बहुत ही असरदार और फायदेमंद है| इसे अगर आप दिन में कम से कम एक चमच्च हिसाब से भी लेते है तो आपके कॉन्स्टिपेशन की समस्या कम हो जाती है और साथ ही खाना भी जल्दी हजम होता है| इसमें रहनेवाले फाइबर और मिनरल खाना जल्दी हजम करने में मदत करता है| अगर किसी को पाइल्स की समस्या है और ज्यादा सादा खाना ही उनके लिए सही है तो वो भी जीरा अपने रोज के खाने में जरूर रखे| जीरा गुनगुने पानी में लेने से यह मल को नरम करने में मदत करता है जिससे पॉटी करते समय पाइल्स से पीड़ित लोगो को तकलीफ नहीं होती है| इस लिए जीरा हमारे रोज के खाने में होना बहुत ही जरुरी है|

मधुमेह के लिए हैं असरदार – Cumin is effective for diabetes

मधुमेह आज एक आम समस्या है पर इसे सिर्फ खान-पान और नियंत्रित लाइफस्टाइल से ही नियंत्रण में रखा जा सकता है| इसलिए अगर मुधमेह से पीड़ित लोग अपने दिन के खाने में जीरा जैसे बीज के उपयोग करेंगे तो उनके डायबिटीज में काफी अच्छी सुधार होगी| क्यों के इसमें रहनेवाले मिनरल और कई सारे विटामिन रक्त में शर्करा को नियंत्रण करके मधुमेह को बढ़ने नहीं देता| कुछ लोग कच्चे जीरा पाउडर उपयोग करते है मधुमेह को कम करने के लिए, यह अच्छा है और इसके कोई भी हानिकारकता नहीं है पर अगर आप खालि पेट कोई दवाई लेते हैं तो अपने डॉक्टर से एकबार पूछ लेना सही रहेगा|

मौसमी ठण्ड से बचाता है जीरा – Cumin prevents seasonal cold

जीरा विटामिन C से भी समृद्ध होने की कारण यह ठण्ड की समस्या से सुरक्षा देता है| इसके एसेंशियल ऑयल भी सर्दी खासी जैसे समस्या से हमे सुरक्षा देता है| किसी भी प्रकार के मौसमी बुखार या सर्दी से अगर सुरक्षित रहना है तो आपको अपने रोज के खाने में जीरा उपयोग करना ही चाहिए| जीरा हमारे शरीर को ठण्ड के मौसम में जरुरी गर्मी भी देती है जिससे हम जल्दी और आसानी से ठण्ड से सुरक्षा पा सकते हैं| इसलिए अगर आपको ज्यादा ठण्ड या सर्दी की समस्या हो तो आपको जीरा अपने खाद्य सूचि में रखना ही चाहिए|

अनिद्रा रोग के लिए हैं काफी असरदार

जीरे में बहुत से जरुरी विटामिन है जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही जरुरी है, यह हमारे शरीर की रोजमर्रा के कार्य प्रणाली को चलाने में मदत करता है और साथ ही स्वस्थ रहने में मदत करता है| आज आधुनिक जीवनशैली के कारण अनिद्रा एक आम समस्या बन गई है इसलिए हम अक्सर कुछ ऐसे दवाई भी लेते है जो हमे आगे चलकर नुकसान ही देता है| जीरा विटामिन से भरपूर एक ऐसी जैविक बीज है जो हमे सही और अच्छी नींद के लिए मदत करता है| जीरा में मौजूद विटामिन खास कर विटामिन B- काम्प्लेक्स अनिद्रा समस्या को कम करने में मदत करता है| जीरा अगर हम रोज खाने में इस्तेमाल करे तो उससे हमारे स्ट्रेस सम्बन्धी समस्या भी कम हो जाते हैं और हम अपनी जीवनशैली में अच्छे और तनाव मुक्त मूड के साथ रह पाते हैं|

एनीमिया के समस्या को दूर करता है

आज हम ज्यादातर जो भी खाना खाते हैं उसमे मिलावटी चीज इतनी ज्यादा है की उससे हमें जरुरी पोषण नहीं मिलता, इसलिए हमें कुछ ऐसे पोषक चीजे लेना चाहिए जो हमारे स्वास्थ को बनाए रखने में मदत करता है| जीरे में बहुत अच्छी मात्रा में आयरन होने की कारण यह हमारे रक्ताल्पता की समस्या को कम करता है और जरुरी रक्त शरीर में बनने में मदत करता है| इसलिए अगर एनीमिया की समस्या को कम करना है तो अपने रोज के खाने में जीरा उपयोग करना बहुत अच्छा होता है| जीरा रक्त को साफ करने में भी मदत करता है|

महिलाओं में लैक्टेशन को बढ़ाने में मदत करता है

आज आधुनिक जीवनशैली के कारण कई सारे समस्याओं से महिला और पुरुष दोनों को ही जूझना पर रहा है, पर यह हमारे जीबन में कई सारे मुशकिले भी पैदा कर रहे हैं| जैसे बच्चो को माँ की दूध की जरुरत सबसे ज्यादा होती है पर फ़ास्ट फ़ूड के चलन के कारण महिलाओं में लैक्टेशन की समस्या आम होती जा रही है| इस समस्या से भी जीरा हमें मदत ही करता है| सही मात्रा में जीरा लेने से मातृत्व कालीन स्तनपान करने में महिलाओं को समस्या नहीं होती| यह प्राकृतिक तरीके से ही महिलाओं के लैक्टेशन ठीक रखने में मदत करता है| इसलिए माँ बनने से पहले और बाद के छह महीने जीरे का सेवन लाभदायक होता है|

प्रतिरक्षा क्षमता को बनाए रखने में मदत करता है

जीरे में विटामिन, मिनरल और खनिज भरपूर मात्रा में पाई जाती है जो शरीर की प्रतिरक्षा क्षमता को बढ़ाने में मदत करता है| इसमें विटामिन C, A शरीर को बहुत से रोग समस्याओं और संक्रमणों से रक्षा करता है| साथ ही यह किसी भी प्रकार के वाइरस को शरीर में पनप ने से रोकता है जो शरीर की स्वास्थता बनाए रखने में मदत करता है और बहुत से अनचाहे शारीरिक रोगो से सुरक्षा देने में मदत करता है|

त्वचा के लिए हैं एक अच्छी दवा

जीरे में भरपूर मात्रा में विटामिन E होने की कारण यह त्वचा के कई सारे समस्याओं से सुरक्षा देने में मदत करता है और साथ ही निखारने में भी सहायता करता है| जीरे में प्राकृतिक एसेंशियल ऑयल होने की कारण यह त्वचा को भीतर से निखारता है और साथ ही मुहासे, संक्रमण की समस्या से रक्षा करता है| उम्र के साथ साथ अगर सही मात्रा में जीरे का सेवन किया जाए तो उससे उम्र के होनेवाले दाग धब्बे, झुर्री और सूखापन काफी कम रहता है और सौन्दर्यता भी बनी रहती है|

 कैंसर के लिए भी अच्छा होता है जीरा

कुछ शोध के मुताबिक जीरे में रहनेवाले खनिज कैंसर की कोष को बड़ने से रोकता है| यह खास कर स्किन कैंसर, लिवर कैंसर के लिए काफी अच्छी फल देती है| इस बीज की इस्तेमाल करने से प्राथमिक ट्यूमर की ग्रोथ रुक जाती है जो आगे चलकर कैंसर की बीमारी को बढ़ा नहीं पाता| इसलिए जीरा एक प्राकृतिक औषधि है कैंसर के मरीजों के लिए पर इसे लेने से पहले अपने डॉक्टर से बात कर लेना अच्छा ही होता है|

जीरा और उसके इस्तेमाल – Uses of Cumin in Hindi

खाना पकाने में – खाना पकाने में जीरा हमेशा से ही एक अच्छा मसाला रहा है जो खाने में इस्तेमाल करने से खाने की स्वाद बढ़ा देती है|

एसेंशियल ऑयल के रूप में – यह त्वचा के लिए और साथ ही एक प्राकृतिक एसेंशियल ऑयल के रूप में चहरे को निखारने की साथ साथ पोषण भी देता है|

सुगंध के लिए – जीरा सुगंध के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है कई सारे डिश में और सरबत में सुगन्धित मसाले की तौर पर भी जीरा इस्तेमाल किया जाता है|

औषधीय गुण – जीरा कई तरह की पोषक तत्वों से समृद्ध होने की कारण आयुर्बेद में इसे औषधीय के रूप में भी इस्तेमाल करने की बात कही गई है, पाचन शक्ति को मजबूत करने के लिए जीरा उपयोग करने की प्रथा बहुत प्राचीन है|

भारतीय भाषाओं में जीरा के नाम

  • हिंदी – जीरा
  • बांग्ला – जिरे
  • मराठी – जिरु
  • तेलुगु – जिलाकारा
  • संस्कृत – जीरक या जीरकम्

Health benefits of Cumin in Hindi, uses of Cumin in Hindi, Cumin in Hindi, benefits of Cumin in Hindi

Leave a Review

How did you find the information presented in this article? Would you like us to add any other information? Help us improve by providing your rating and review comments. Thank you in advance!

Name
Email (Will be kept private)
Rating
Comments
Cumin in Hindi Overall rating: ☆☆☆☆☆ 0 based on 0 reviews
5 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *