Cardamom in Hindi

Cardamom in Hindi

Cardamom यानि इलायची किसी भी भारतीय परिवार में इस्तेमाल होनेवाले सबसे आम मसालों में से एक है| गरम मसालों में इसके इस्तेमाल होता है बहुत ज्यादा| साथ ही इलायची न केवल मीठे बनाने में और स्वादिष्ट व्यंजनों में डाली जाती है बल्कि एक माउथ फ्रेशनर के रूप में भी इस्तेमाल होती है| आयरन और रिबोफ्लेविन, विटामिन C एबं नियासिन जैसे आवश्यक विटामिन इलायची में प्रमुख रूप में मौजूद है|

Also read about Black Raisin

इलायची (Cardamom) के विषय में कुछ बातें

इलायची का सेवन आमतौर पर मुखशुद्धि के लिए अथवा मसाले के रूप में किया जाता है| इलायची दो प्रकार की पाई जाती है- हरी या छोटी इलायची तथा बड़ी इलायची| जहाँ बड़ी इलायची व्यंजनों को स्वादिष्ट बनाने के लिए एक मसाले के रूप में प्रयुक्त होती है, वहीं हरी इलायची मिठाइयों की सुगंधित  करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है| मेहमानों की स्वागत के लिए भी इलायची का इस्तेमाल होता है| लेकिन इसकी महत्ता केवल यहीं तक सीमित नहीं है| यह औषधीय गुणों से भी भरपूर है|

छोटी इलायची को संस्कृत में ‘एला’, ‘तीक्ष्णगंधा’ इत्यादि कहा जाता है और लैटिन भाषा में ‘एलेटेरिआ कार्डामोमम’ कहते हैं| इलायची को मसालों की रानी भी कहा जाता है| ये पाचनवर्धक तथा रुचिवर्धक होते हैं| आयुर्वेदिक मत के अनुसार इलाचयी शीतल, तीक्ष्ण, मुख को शुद्ध करनेवाली, पित्तजनक और वात, श्वास, खाँसी, बवासीर, क्षय, वस्तिरोग, सुजाक, पथरी, खुजली, मूत्रकृच्छ तथा हृदयरोग में लाभदायक है| इलायची के बीजों से एक प्रकार का एसेंशियल ऑएल भी पाई जाती है|

इलायची (Cardamom) में रहनेवाली पोषण तत्व

100 ग्राम इलायची में

  • कैलोरी – 311
  • कुल वसा – 7 g
  • संतृप्त वसा – 7 g
  • बहुअसंतृप्त वसा – 4 g
  • मोनोअसंतृप्त वसा – 9 g
  • कोलेस्टेरॉल – 0 mg
  • सोडियम – 18 mg
  • पोटैशियम – 1,119 mg
  • कुल कार्बोहायड्रेट – 68 g
  • आहारीय फाइबर – 28 g
  • प्रोटीन – 11 g
  • विटामिन A – 0 %
  • विटामिन C – 21 mg
  • कैल्सियम – 383 mg
  • आयरन – 14 mg
  • विटामिन D – 0 %
  • विटामिन B6 – 0.2 mg
  • विटामिन B12 – 0 %
  • मैग्नेशियम – 229 mg

इलायची (Cardamom) के 11 स्वास्थ्यकारी गुण

  1. पाचन में सुधार लाने के लिए इलायची सेवन है बहुत फ़ायदेमंद
  2. मुंह की दुर्गंध को दूर करता है इलायची
  3. आपके हृदय स्वास्थ्य को सही करता है इलायची
  4. पुरुषों के स्पर्म काउंट में सुधार होती है रोज इलायची लेने से
  5. एनीमिया से सुरक्षा देती है इलायची
  6. साधारण यौन सम्बन्धी समस्या को भी सुधारती है इलायची
  7. एसिडिटी से छुटकारा देती है इलायची
  8. सांस की बीमारियों को कम करने में सहायक है इलायची
  9. शरीर को डीटोक्सिफाई करता है इलायची
  10. स्मरण शक्ति भी बढ़ाता है इलायची
  11. तनाव मुक्त रखने में मेड़ता करता है इलायची

पाचन में सुधार लाने के लिए इलायची सेवन है बहुत फ़ायदेमंद – Cardamom benefits to improve digestion

इलायची की प्रकृति वातहर है और यह पाचन को बढ़ाने, पेट की सूजन को कम करने, हृदय की जलन को दूर करने और वमन को रोकने में भी मदद करती है|

माना जाता है कि यह श्लेष्मा झिल्ली को शांत करती है ताकि वह ठीक से कार्य कर सके और जिससे एसिडिटी और पेट की खराबी के लक्षणों से राहत मिलती है| इसके अलावा भी आयुर्वेदिक ग्रंथों के अनुसार यह पाया जाता है कि इलायची पेट में जल और वायु के गुणों को कम करती है जिससे भोजन को सही से पचाने में मदत मिलती है|

मुंह की दुर्गंध को दूर करता है इलायची – Benefits of Cardamom for bad breath

यदि आपके मुंह से दुर्गंध आने की समस्या हो और साथ ही इससे परेशान है और आप उपचार की हर कोशिश कर चुके हैं तो एकबार इलायची आज़माइए| इस मसाले में एंटीबैक्टीरियल गुण, तेज स्वाद और एक भीनी सी महक हैं| इसके अलावा, यह आपके पाचन तंत्र को सुधारती है- जो कि दुर्गंध के मुख्य कारणों में एक है, इलायची इस दुर्गंध के समस्या को दूर करने में विशेष मदत करती है| अगर आप खाने के बाद हमेशा इलायची चबाएंगे तो यह बहुत ही सही होगा|

आपके हृदय स्वास्थ्य को सही करता है इलायची – Benefits of Cardamom for Heart Health

पोटैशियम, कैल्शियम और मैग्नीशियम जैसे खनिजों से भरपूर इलायची जरुरी इलेक्ट्रोलाइट्स के लिए एक सही पोषण है| इसमें रहनेवाले पोटैशियम आपके रक्त, शरीर के तरल पदार्थ और कोशिकाओं का एक मुख्य तत्व है| इन आवश्यक खनिजों की प्रचुर मात्रा में आपूर्ति करके इलायची आपके हृदय रेट को नियमित करने में मदद करता है और आपके रक्तचाप को नियंत्रित रखता है| इसलिए अपने हृदय के स्वास्थ्य लाभ के लिए अपने दैनिक भोजन में कम से कम एक  इलायची को शामिल करें अथवा इलायची वाली चाय पीने की आदत डाले|

पुरुषों के स्पर्म काउंट में सुधार होती है रोज इलायची लेने से – Men’s sperm count may improve on daily intake of cardamom

आजकल के समय में पुरुषों में नपुंसकता की समस्या बहुत ही ज्यादा बढ़ रही है| अनियमित कामकाज  करने की तरीके इसके लिए मुख्यत जिम्मेदार है| पर अगर रोज सही मात्रा में इलायची दूध में मिलाकर पीया जाये तो इससे पुरुषों के स्पर्म काउंट को बढ़ाने के लिए बहुत ही सही प्रयोग होगा| बहुत से समय सही पोषण के अभाव के कारण भी पुरुषों में संतान न जन्म देने की समस्या पाई जाती है|

इसलिए अगर रोज नियम से वे इलायचीवाली दूध लेंगे तो बहुत ही सही और अच्छा होगा उनके स्पर्म काउंट के मात्रा को सही रखने के लिए| यह अभ्यास सादी की पहले से ही करना सबसे सही होता है| इलायचीवाली दूध पोषण के साथ साथ स्वादिष्ट भी होती है|

एनीमिया से सुरक्षा देती है इलायची – Cardamom may help to protect from anemia

तांबा, आयरन और रिबोफ्लेविन, विटामिन C तथा नियासिन जैसे आवश्यक विटामिन इलायची में अच्छी मात्रा में मौजूद है| लाल रक्त कोशिकाओं और सेलुलर मेटाबोलिज्म के उत्पादन में जरुरी तांबा, आयरन, रिबोफ्लेविन, विटामिन C तथा नियासिन के साथ एनीमिया से लड़ने में मदद करता है और इस स्थिति में होनेवाले कई सारे लक्षणों से राहत दिलाने में मदत करती है| एक गिलास गर्म दूध में एक या दो चुटकी इलायची पाउडर और साथ में हल्दी मिलाएं| एनीमिया और कमज़ोरी से राहत पाने के लिए इसे रोज रात को जरूर पीने की आदत डाले|

साधारण यौन सम्बन्धी समस्या को भी सुधारती है इलायची – Cardamom also improves the general sexual problem

इलायची एक शक्तिशाली और उत्तेजक मसाला है| यह न केवल आपके शरीर को मजबूत बनाता है बल्कि कुछ यौन रोग को रोकने में भी मदद करता है| अक्सर हम इस बारे में उतना नहीं ध्यान देते पर यह एक समस्या होती है खास कर सादी के बाद| खासकर पुरुष सम्भोग के दौरान उर्जाबान रहने के लिए इलायची इस्तेमाल कर सकते हैं| इलाची पावडर के साथ दूध या बादाम के शरबत में इलायची मिलाके खाना नव विवाहित जोड़े के लिए बहुत ही लाभदायक होता है|

एसिडिटी से छुटकारा देती है इलायची – Cardamom to relieve acidity

इलायची में आवश्यक तेल होता है जो एसिडिटी का खास उपचार होता है| पेट के जलन को कम करने में  भी मदद करता हैं इलायची| इलायची चबाने पर इसमें से आवश्यक तेल निकलते हैं जो आपकी लार ग्रंथियों को उत्तेजित करते हैं जिससे आपका पेट ठीक प्रकार से कार्य करती है जिसके कारण आपकी भूख में सुधार होता है और एसिडिटी में कमी भी होती है|

इलायची के आवश्यक तेल एक ठंडा स्वाद और अनुभूति प्रदान करते हैं जो पेट को ठंडा करता है| एसिडिटी को दूर करने का सबसे बेहतर तरीका है कि आप खाने के एकदम बाद बैठने से बचें, इसके बजाय इलायची चबाते हुए कुछ देर सैर करें जिससे आपको एसिडिटी की आशंका कम होगी|

सांस की बीमारियों को कम करने में सहायक है इलायची – Cardamom is helpful in reducing respiratory diseases

इलायची आपके फेफड़ों में रक्त संचालन को बढ़ाकर सांस संबंधित समस्याओं जैसे अस्थमा, खांसी और ज़ुकाम आदि की समस्या को कम करने में मदत करता है| आयुर्वेद शास्त्र में इलायची को एक गर्म मसाला माना गया है जो शरीर को अंदर से गर्म करता है जिससे कफ के निष्कासन और छाती में जमाव से आसानी से राहत होती है| गर्म पानी में इलायची के तेल डालकर अगर आप भाप लेंगे तो यह आपके  के लिए बहुत ही फायदेमंद होगा|

शरीर को डीटोक्सिफाई करता है इलायची – Cardamom is helpful to detoxify the body

इलायची में अच्छी मात्रा में मैंगनीज़ मौजूद है| मैंगनीज़ इस एंज़ाइम के उत्पादन के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है जो मुक्त कणों को समाप्त और नष्ट करता है| इसके अलावा भी इलायची में बहुत अधिक मजबूत डीटोक्सिफाई करने के गुण होते हैं जो हमारे शरीर को साफ रखते हैं और कैंसर जैसी बीमारियों से बचाने में मदत करता है| पानी के साथ अगर आप रोज इसके पॉउडर लेंगे तो यह बहुत ही लाभदायक होगा|

स्मरण शक्ति भी बढ़ाता है इलायची – Cardamom is helpful to enhance memory

इलायची के बीज, बादाम, पिस्टे और किसमिस के साथ भिगोकर महीन पीस लें| इसे दूध में पकाएँ जब गाढ़ा हो जाए तो मिश्री मिलाकर धीमी आँच में पकने दें| जब हलवा जैसा हो जाए तो सेवन करें। इससे आपके स्मरण शक्ति बढ़ती है और साथ ही आंखो के रौशनी भी तेज होती है| इसे लेना बहुत ही सही होता है पढ़ाई लिखाई करनेवाले बच्चों के लिए|

तनाव मुक्त रखने में मदत करता है इलायची – Cardamom benefits to stay stress free

चाय में इलायची डालकर पीने से इसका स्वाद बढ़ जाता है और इसके साथ ही इसका एक फायदा और भी है कि यह हमें तनाव मुक्त रखने में मदत करता है| बहुत ज्यादा तनावग्रस्त होने पर इलायचीवाली चाय या इलायची के सेवन से तनाव की समस्या से निजात मिलता है| इलसिए अगर आप तनाव मुक्त रहना चाहते हैं तो इलायची रोज ले|

भारतीय भाषाओँ में इलायची के नाम

  • हिंदी – इलायची और छोटी इलायची
  • बांग्ला – एलाच
  • गुजराती – इलायची
  • तमिल – एलेक्कै
  • मराठी – वेल्चील
  • तेलुगु – यालक-कयलु
  • कन्नड़ – एलेक्की
  • संस्कृत – एला
  • उर्दू – ललेची

Reference – food.ndtv.com

Cardamom in Hindi, Benefits of Cardamom in Hindi, Health benefits of Cardamom in Hindi, Cardamom, Benefits of Cardamom, Health benefits of Cardamom

Reviews

Cardamom in Hindi
0.0 rating based on 12,345 ratings
Overall rating: 0 out of 5 based on 0 reviews.

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *